DA Image
Friday, December 3, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेश रामपुरसंडे की छुट्टी समझकर धान लेकर नहीं पहुंचे किसान

संडे की छुट्टी समझकर धान लेकर नहीं पहुंचे किसान

हिन्दुस्तान टीम,रामपुरNewswrap
Sun, 14 Nov 2021 11:00 PM
छुट्टी में भी धान क्रय केंद्रों तो खुले पर किसान लेकर नहीं पहुंचे। अधिकतर केंद्रों पर पूरे दिन सन्नाटा छाया रहा। प्रभारी हाथ पर हाथ धरे बैठे रहे।...
1/ 2छुट्टी में भी धान क्रय केंद्रों तो खुले पर किसान लेकर नहीं पहुंचे। अधिकतर केंद्रों पर पूरे दिन सन्नाटा छाया रहा। प्रभारी हाथ पर हाथ धरे बैठे रहे।...
छुट्टी में भी धान क्रय केंद्रों तो खुले पर किसान लेकर नहीं पहुंचे। अधिकतर केंद्रों पर पूरे दिन सन्नाटा छाया रहा। प्रभारी हाथ पर हाथ धरे बैठे रहे।...
2/ 2छुट्टी में भी धान क्रय केंद्रों तो खुले पर किसान लेकर नहीं पहुंचे। अधिकतर केंद्रों पर पूरे दिन सन्नाटा छाया रहा। प्रभारी हाथ पर हाथ धरे बैठे रहे।...

छुट्टी में भी धान क्रय केंद्रों तो खुले पर किसान लेकर नहीं पहुंचे। अधिकतर केंद्रों पर पूरे दिन सन्नाटा छाया रहा। प्रभारी हाथ पर हाथ धरे बैठे रहे। अलवत्ता इक्का दुक्का किसान खाद के लिए जरूरी पहुंचे।

धान खरीद का लक्ष्य पूरा करने के लिए जिले भर के धान क्रय रविवार को छुट्टी में भी खुले। जिला खाद्य विभाग अधिकारी की ओर से क्रय कें द्र खोलने का फरमान शाम को जारी किया गया। किसानों को इसकी कोई सूचना नहीं दी गई। इसलिए किसान छुट्टी समझकर धान लेकर केंद्रों पर नहीं पहुंचे। खाद्य विभाग के आगापुर स्थित केंद्र पर पूरे दिन सन्नाटा छाया रहा। पीसीएफ के अजीतपुर किसान सेवा सहकारी समिति केंद्र पर भी एक किसान नहीं पहुंचा।

प्रभारी वीर पाल सिंह का कहना था कि किसानों ने समझा होगा कि आज छुट्टी है। इसलिए उनके केंद्र पर एक भी किसान धान लेकर नहीं आया। पीसीएफ के मतवाली केंद्र प्रभारी अतुल सक्सेना ने बताया कि पूरे दिन एक भी किसान धान लेकर नहीं आया। पीसीएफ के मथुरापुर क्रय कें द्र तो खुला पर किसान नहीं पहुंचे। रामपुर मंडी के भी सभी केंद्रों पर सन्नाटा रहा। इसी तरह डिबडिबा, केमरी तृतीय, स्वार,टांडा नवीन मंडी, ऊंचागांव, ककरौवा एट मनकरा, दिलपुरा बगड़खा, पनवड़िया एट बढ़पुरा शर्की, संघ कोयला, कोयला एट चमरौवा, सिसौना, मंडी हब गोविंदपुरा, ककरौवा एट पनवड़िया, गोविंदपुरा, नवाबगंज, राठौंडा, मालन खेड़ा, लोहापट्टी, लखमनगला,पुस्वाड़ा, ऊंचागांव, भंवरकी, लखीमपुर, धमोरा, धनेली, मानपुर,महुनागर,लालपुर एक खौद, सेफनी, मनकरा, मोहनपुर, केमरी उप मंडी, नौंगवा, मिलक मंडी समेत कई और क्रय केंद्र सूने पड़े रहे।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें