DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जिला कार्यकारिणी को नहीं चुनाव निरस्त करने का अधिकार

चमरौआ ब्लाक अध्यक्ष का चुनाव निरस्त किए जाने पर जिला कार्यकारिणी का विरोध शुरू हो गया है। चमरौआ के शिक्षकों ने बैठक कर कहा है कि जिला कार्यकारिणी को निलंबन और चुनाव निरस्त किए जाने का अधिकार नहीं है। जिला कार्यकारिधी संगठन विरोधी कार्य कर रही है।

रविवार को प्राथमिक शिक्षक संघ की जिला कार्यकारिणी की बैठक हुई थी, जिसमें चमरौआ ब्लाक अध्यक्ष का चुनाव निरस्त कर दिया गया था। सोमवार को इसके विरोध में शिक्षक अंबेडकर पार्क में जुटे और कार्रवाई की निंदा की। शिक्षकों ने कहा है कि ब्लाक अध्यक्ष चरन सिंह को पद से हटाना और चुनाव को अवैध घोषित करना संगठन के नियमों के खिलाफ है। प्रदेश अध्यक्ष ने भी इसे गलत बताया है। जिला कार्यकारिणी लगातार मनमानी कर रही है। वह संगठन विरोधी कार्य में लिप्त है। वैसे भी कार्यकारिणी नौ मई को कालातीत हो चुकी है। चमरौआ का चुनाव नियमानुसार और शुल्क जमा करने के बाद ही कराया गया था। शिक्षकों की कोई भी खुली बैठक भी नहीं बुलाई गई है। चरन सिंह ने कहा कि वह अब भी ब्लाक अध्यक्ष हैं।

इस मौके पर डा. वंदना सक्सेना, अजहर अहमद, डा. सरफराज, गुलशन कुमार, रवेन्द्र गंगवार, मोहित चौहान, पंकज कुमार, सौरभ शर्मा, अहसान खां आदि शामिल रहे।

रवेन्द्र ने प्रदेश अध्यक्ष से की शिकायत

रामपुर। मिलक क्षेत्र के पूर्व माध्यमिक विद्यालय मझरा देवरी बुजुर्ग के सहायक अध्यापक रवेन्द्र गंगवार ने प्राथमिक शिक्षक संघ के प्रदेश अध्यक्ष को पत्र भेजकर कहा है कि उन्होंने संगठन की सदस्या शुल्क जमा की थी। इसकी रशीदें उनके पास हैं, फिर भी उन्हें चुनाव से रोका गया। जिला संगठन मनमानी कर रहा है। चुनाव में निष्पक्ष नहीं कराए गए हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: District executive does not have the right of election cancellation