DA Image
31 अक्तूबर, 2020|6:03|IST

अगली स्टोरी

हाथरस कांड के दोषियों पर कार्रवाई को मसवासी में धरना-प्रदर्शन

default image

फोटो परिचय-01 मसवासी 01-

मसवासी में हाथरस कांड के आरोपियों को फांसी की मांग को लेकर नगर पंचायत परिसर में धरना-प्रदर्शन करते भावाधस के कार्यकर्ता-

नगर पंचायत परिसर में दोषियों को फांसी की सजा की मांग को लेकर धरने पर बैठे भावाधस कार्यकर्ता-

हाथों में तख्तियां और झाड़ू लेकर धरने में शामिल हुए सफाई कर्मचारी-

आर्थिक सहायता के रुप में पीड़िता के परिजनों को एक करोड़ रुपए दिए जाने की मांग-

मसवासी। हिन्दुस्तान संवाद

भारतीय वाल्मीकि धर्म समाज ने हाथरस प्रकरण के विरोध में गुरुवार की सुबह नगर पंचायत परिसर में धरना दिया। हाथों में तख्तियां लेकर नारेबाजी के साथ दोषियों को फांसी दिए जाने की मांग की गई।

गुरुवार को नगर पंचायत परिसर में भावाधस के इस धरना-प्रदर्शन में एक दिवसीय सांकेतिक हड़ताल कर सभी सफाई कर्मी भी शामिल हुए। भावाधस कार्यकर्ताओं ने कहा कि प्रदेश में दलितों की बहन-बेटियों पर आए दिन अत्याचार हो रहे हैं। कहा कि पुलिस द्वारा दलित बेटी की लाश भी परिजनों की गैर-अनुमति के आधी रात में दाह-संस्कार किया जाना दलितों का अपमान है। प्रदेश में दलित और उनकी बेटियों का जीते-जी भी अपमान है और मरने के बाद भी अपमान किया जा रहा है। कहा कि अपमान को अब वाल्मीकि समाज कतई बर्दाश्त नहीं करेगा। भावाधस कार्यकर्ताओं ने हाथरस कांड की सीबीआई जांच कराने और पीड़िता के परिजनों को एक करोड़ रुपए की आर्थिक सहायता दिए जाने की मांग की गई।

धरना-प्रदर्शन में भावाधस के प्रदेश महामंत्री दीप सिंह राही, राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य कैलाश एकलव्य, तहसील प्रभारी सोमपाल, मनोज कुमार, मुकेश कुमार, अजय, नितिन, रवि, प्रवेश, संजय, बाबूराम, अनीता, सोना, गीता, चमन, प्रीति आदि शामिल रहे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Demonstration of action on the culprits of Hathras incident in Maswasi