DA Image
16 अप्रैल, 2021|4:13|IST

अगली स्टोरी

स्वार में जाम से नहीं मिल रही निजात

default image

नगर में अतिक्रमण के कारण जाम की समस्या विकराल हो गई है। प्रशासन की चेतावनी को अतिक्रमणकारी गम्भीरता से नहीं ले रहे हैं जिसके कारण रोजाना जाम लगना आम बात हो गई है। वाहनों के जाम में फंसने से आम राहगीर पैदल भी नहीं निकल सकते हैं।

मार्ग के दोनों ओर की फुटपाथ पैदल राहगीरों के लिए बनी थी लेकिन कब्जा ऑटो, ई रिक्शा, ठेला-ठेली, दुकानदारों, फड़ कारोबारी या फिर आड़े तिरछे वाहनों का है। इसके चलते भारी वाहन, यात्री वाहन, दुपहिया और पैदल राहगीरों के लिए मार्ग संकुचित होकर रह गया है। यही कारण है कि जाम का झाम बड़ी समस्या बन गया है। हालांकि प्रशासन और नगर पालिका प्रशासन ने पटरी कारोबारियों के लिए सीमा निर्धारित की हुई है लेकिन उसका अनुपालन नहीं किया जा रहा है।

जिलाधिकारी के आदेश पर नहीं कराया अमल

सम्पूर्ण समाधान दिवस में आते समय जिलाधिकारी का काफिला अतिक्रमण का शिकार बना था। तब समाधान दिवस में सबसे पहले नगर पालिका के बड़े बाबू को तलब कर अतिक्रमणकारियों के खिलाफ जुर्माना डालने के निर्देश दिए थे, लेकिन उस दिन के बाद पालिका प्रशासन ने कोई सुध नहीं ली और न ही कोई जुर्माना वसूला गया है। कार्रवाई न होने से अतिक्रमणकारियों के हौसले बुलंद हैं और आम राहगीरों की हालत पस्त है। हद तो तब होती है जब एम्बुलेंस जाम में फंसती है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Can not get rid of jam in swarms