BSA stranded in contempt of court, salary hold - रामपुर के बीएसए अदालत की अवमानना में फंसे DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रामपुर के बीएसए अदालत की अवमानना में फंसे

जिला बेसिक शिक्षाधिकारी अदालत की अवमानना में फंस गए हैं। किशोर न्यायालय ने बीएसए के वेतन पर रोक लगा दी है। साथ ही उन्हें अवमानना का नोटिस जारी किया है। शहर के मुहल्ला बेरियान निवासी किशोर पर हत्या का आरोप है। किशोर पर लगे आरोप की सुनवाई किशोर न्यायालय में की जा रही है। उसकी उम्र का निर्धारण होना है कि वह किशोर की श्रेणी में आता है या नहीं। हत्यारोपी किशोर बेरियान के प्राथमिक विद्यालय का छात्र रहा है, जहां उसकी जन्मतिथि लिखी है। किशोर न्यायालय में इस संबंध में बीएसए को लिखा था। स्कूल का रिकार्ड मांगा गया था, लेकिन न तो बीएसए ने रिकार्ड ही दिया और न ही वह हाजिर हुए। इस पर किशोर न्यायालय में बीएसए के खिलाफ अदालत की अवमानना की कार्रवाई शुरू की है, जिन्हें नोटिस जारी किया गया है। साथ ही वेतन पर रोक लगा दी गई है। किशोर न्यायालय के प्रधान मजिस्ट्रेट अरविंद मिश्रा, सदस्य मुकेश कुमार दिवाकर और सदस्य शिखा सिंह ने बीएसए का वेतन रोकने के लिए वरिष्ठ कोषाधिकारी को आदेश दिया है। अब सीएमओ बतायेंगे राजीव की उम्र किशोर न्यायालय में मुख्य चिकित्साधिकारी को लिखा है। जिसमें कहा है कि मेडिकल बोर्ड का गठन कर आरोपी राजीव की उम्र की रिपोर्ट दें। अदालत ने सीएमओ को 30 अगस्त तक का समय दिया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:BSA stranded in contempt of court, salary hold