DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › रामपुर › मिड डे मील योजना में छात्रों के खाते में भेजी राशि
रामपुर

मिड डे मील योजना में छात्रों के खाते में भेजी राशि

हिन्दुस्तान टीम,रामपुरPublished By: Newswrap
Thu, 05 Aug 2021 11:31 PM
मिड डे मील योजना में छात्रों के खाते में भेजी राशि

खाद्य सुरक्षा अधिनियम के अन्तर्गत उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा वित्तीय वर्ष 2020-21 में मध्याहन भोजन योजना से आच्छादित 1.43 लाख विद्यालयों में अध्ययनरत् 1.86 करोड़ छात्र-छात्राओं के अभिभावकों के बैंक खातों में परिवर्तन लागत की धनराशि रूपये 2673.00 करोड़ प्रेषित की गई तथा खाद्यान्न के रूप में 5.08 लाख मीट्रिक टन खाद्यान्न गेहॅू व चावल कोटेदार के माध्यम से वितरित किया जा रहा है।

जिलाधिकारी रविन्द्र कुमार मॉदड़ ने बताया कि प्राथमिक विद्यालयों में पोषण हेतु दिया गया खाद्यान्न एवं परिवर्तन की धनराशि 24 मार्च 2020 से 30 जून 2020 तक 76 दिवस खाद्यान्न की मात्रा 7.6 किग्रा परिवर्तन लागत की धनराशि 374 रूपये, 01 जुलाई 2020 से 31 अगस्त 2020 तक 49 दिवस खाद्यान्न की मात्रा किग्रा0 4.9 परिवर्तन की धनराशि 243 रूपये, एक सितम्बर से 28 फरवरी 2021 तक 138 दिवस खाद्यान्न की मात्रा किग्रा 13.08 परिवर्तन लागत की धनराशि 685 रूपये प्रेषित किया जा रहा है। इसी प्रकार उच्च प्राथमिक विद्यालयों में पोषण हेतु दिया गया खाद्यान्न एवं परिवर्तन की धनराशि 24 मार्च 2020 से 30 जून 2020 तक 76 दिवस खाद्यान्न की मात्रा 11.4 कि0ग्रा0 परिवर्तन लागत की धनराशि 561 रूपये, 01 जुलाई 2020 से 31 अगस्त 2020 तक 49 दिवस खाद्यान्न की मात्रा कि0ग्रा0 7.35 परिवर्तन की धनराशि 365 रूपये, 01 सितम्बर 2020 से 09 फरवरी 2021 तक 124 दिवस खाद्यान्न की मात्रा कि0ग्रा0 18.6 परिवर्तन लागत की धनराशि 923 रूपये प्रेषित किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि खाद्यान्न वितरण हेतु सोशल डिस्टेसिंग का पालन करते हुए सरकारी सस्ते गल्ले की दुकान से प्रधानाध्यापक द्वारा प्रदत्त प्राधिकार पत्र, बाउचर प्रस्तुत कर अभिभावकों द्वारा प्राप्त किए जाने की व्यवस्था दी गयी है तथा परिवर्तन लागत की धनराशि बैंक शाखा के माध्यम से छात्र-छात्राओं व अभिभावकों के बैंक खातों में विद्यालय के मध्याहन भोजन निधि खाते से डीबीटी के रूप में हस्तान्तरित की जा रही हैं। जिलाधिकारी ने सभी अभिभावकों से अपील करते हुए कहा कि धनराशि व खाद्यान्न प्राप्त किए जाने हेतु विद्यालयों से सम्पर्क करें तथा किसी प्रकार की समस्या होने पर जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी या खण्ड शिक्षा अधिकारी से सम्पर्क कर सकते है।

संबंधित खबरें