ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेश प्रयागराजभीरपुर, बामपुर आरओबी के अंतिम चरण का काम शुरू हुआ

भीरपुर, बामपुर आरओबी के अंतिम चरण का काम शुरू हुआ

महाकुम्भ के मद्देनजर जिले में बन रहे आरओबी जल्द ही तैयार होने लगेंगे। भीरपुर और बामपुर में जिस आरओबी को पूरा करने का लक्ष्य 31 मार्च 2024 रखा गया...

भीरपुर, बामपुर आरओबी के अंतिम चरण का काम शुरू हुआ
हिन्दुस्तान टीम,प्रयागराजFri, 01 Mar 2024 11:00 AM
ऐप पर पढ़ें

प्रयागराज। महाकुम्भ के मद्देनजर जिले में बन रहे आरओबी जल्द ही तैयार होने लगेंगे। भीरपुर और बामपुर में जिस आरओबी को पूरा करने का लक्ष्य 31 मार्च 2024 रखा गया था, उसके अंतिम चरण का काम शुक्रवार से शुरू हो गया। ऊपरी हिस्से के गार्डर रखने के लिए क्रेन गुरुवार को पहुंच गए। शुक्रवार सुबह से काम शुरू होगा। आरओबी का काम चलने के कारण इस मार्ग पर अब कुछ दिन तक यातायात बाधित रहेगा। ऐसे में सेतु निगम ने लोगों के लिए वैकल्पिक मार्ग सुझाए हैं।
महाकुम्भ के पहले सेतु निगम जिले में 15 आरओबी बना रहा है। इसमें चार आरओबी बनकर तैयार हो चुके हैं, जबकि भीरपुर, बामपुर और सलोरी आरओबी को पूरा करने का लक्ष्य 31 मार्च 2024 रखा गया था। सेतु निगम के अफसरों का कहना है 96 फीसदी तक बनकर तैयार हो चुके आरओबी पर अब ऊपरी हिस्से का काम बचा है। इस हिस्से को पूरा करने के लिए गार्डर आ चुके हैं और यह काम शुक्रवार से शुरू हो जाएगा। ऐसे में दोनों ही स्थानों से जाने के लिए अब वैकल्पिक मार्ग का इस्तेमाल करना होगा।

भीरपुर के लिए वैकल्पिक मार्ग

भीरपुर मेजा मार्ग पर जहां आरओबी बन रहा है, वहां पर रूट डायवर्जन रहेगा। यह डायवर्जन एक मार्च से तीन मार्च तक रहेगा। यहां काम के दौरान लोगों को प्रयागराज से जाते वक्त सर्विस लेन के बगल भीरपुर से पनासा से दाएं कचरी के रास्ते मिर्जापुर मार्ग पर जाना होगा।

भीरपुर आरओबी एक नजर

कुल लागत 4223.18 लाख

कुल लंबाई 717.469 मीटर

रेलवे का हिस्सा 93 मीटर

सेतु निगम का हिस्सा 624.69 मीटर

03 दिनों तक डायवर्ट रूट से जाना होगा

बामपुर आरओबी के लिए मार्ग

रूट डायवर्जन के दौरान प्रयागराज और मिर्जापुर मार्ग पर आने जाने के लिए राहगीरों को निर्माणाधीन आरओबी की बाईं ओर से निकलना होगा। जिससे आवागमन भी हो और मार्ग भी अवरुद्ध न हो। यह डायवर्जन एक मार्च से तीन मार्च तक रहेगा।

बामपुर आरओबी एक नजर

कुल लागत 4795.30 लाख

कुल लंबाई 781.696 मीटर

रेलवे का हिस्सा 69.75 मीटर

सेतु निगम का हिस्सा 711.946 मीटर

03 दिनों तक डायवर्ट रूट से जाना होगा

वर्जन

बीम लांचिंग एक महत्वपूर्ण काम है। राहगीरों की सुरक्षा के लिए ब्लॉक लिया गया है जिससे तीन दिनों तक लोगों को डायवर्ट रूट से जाना होगा।

अनिरुद्ध कुमार, परियोजना प्रबंधक, सेतु निगम

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें