DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › प्रयागराज › व्हाट्सएप चैटिंग से खुलेंगे नकल माफिया के राज
प्रयागराज

व्हाट्सएप चैटिंग से खुलेंगे नकल माफिया के राज

हिन्दुस्तान टीम,प्रयागराजPublished By: Newswrap
Wed, 04 Nov 2020 09:24 PM
व्हाट्सएप चैटिंग से खुलेंगे नकल माफिया के राज

इससे पूर्व के पेपर में भी अभ्यर्थियों ने लगाए थे नकल होने का आरोप

आरोपी के मोबाइल में मनोज सर बीटीसी के नाम के ग्रुप एडमिन कर रहा था खेल

प्रयागराज। वरिष्ठ संवाददाता

डीएलएड परीक्षा में पेपर लीक प्रकरण का कई दिनों से अभ्यर्थी शोर मचा रहे थे। चर्चाएं थी कि कोई गैंग नकल करा रहा है लेकिन किसी के पास कोई प्रमाण नहीं मिल पा रहा था। बुधवार को कोतवाली पुलिस के खुलासे के बाद साफ हो गया कि इस परीक्षा में भी नकल माफिया गैंग बनाकर सक्रिय थे। पुलिस आरोपी के मोबाइल की फॉरेंसिक जांच करा कर एडमिन के खिलाफ कार्रवाई करेगी।

कोतवाली पुलिस ने अभ्यर्थी ज्योति को नकल कराने के आरोप में उसके चचेरे भाई राहुल मौर्य को गिरफ्तार किया। राहुल मौर्या के मोबाइल पर डी 18 बैच के नाम से एक व्हाट्सएप ग्रुप बना है, जिसका एडमिन मनोज सर है। इस ग्रुप में ही बीटीसी के कई अभ्यर्थी व अन्य लोग जुड़े हैं। सवाल यह है कि मनोज सर है कौन? क्योंकि इसी ग्रुप में डीएलएड का पेपर डालकर ग्रुप में जुड़े अन्य सदस्य उसे साल्व करके उत्तर बता रहे थे। इसके बाद उसे चारों तरफ प्रसारित किया जा रहा था। इस बात की आशंका है कि इसी तरह कई अन्य लोगों को भी नकल कराया जा रहा था जिसके बारे में अभी तक पुलिस को जानकारी नहीं हो सकी है। कोतवाली पुलिस का कहना है कि मोबाइल की फॉरेंसिक परीक्षण के बाद इसका खुलासा होगा। पकड़े गए आरोपियों के बयान और साक्ष्यों के आधार पर कार्रवाई की जाएगी।

संबंधित खबरें