ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेश प्रयागराजपंद्रह विषयों में तय सीट से हैं बहुत कम विद्यार्थी

पंद्रह विषयों में तय सीट से हैं बहुत कम विद्यार्थी

इलाहाबाद विश्वविद्यालय से संबद्ध कॉलेजों में परास्नातक के जिन विषयों में आवंटित सीटों के मुकाबले छात्र-छात्राओं की संख्या आधे से कम है, वहां नए सत्र...

पंद्रह विषयों में तय सीट से हैं बहुत कम विद्यार्थी
हिन्दुस्तान टीम,प्रयागराजTue, 14 May 2024 09:45 PM
ऐप पर पढ़ें

प्रयागराज। कार्यालय संवाददाता
इलाहाबाद विश्वविद्यालय से संबद्ध कॉलेजों में परास्नातक के जिन विषयों में आवंटित सीटों के मुकाबले छात्र-छात्राओं की संख्या आधे से कम है, वहां नए सत्र से उन पाठ्यक्रम में प्रवेश नहीं होगा। सूत्रों की मानें तो पीजी के कुल 15 विषय ऐसे हैं, जहां आवंटित सीटों के मुकाबले विद्या​र्थियों की संख्या बहुत कम है। कुछ पाठ्यक्रमों में तो केवल दो या तीन विद्यार्थी ही पंजीकृत हैं। ऐसी स्थिति में अधिकांश महिला कॉलेज की है।

यूजीसी की एक शर्त यह भी है कि पीजी का पाठ्यक्रम चलाने के लिए संबं​धित विषय में न्यूनतम चार ​शिक्षक होने चाहिए। कॉलेजों में पीजी के पाठ्यक्रम सेल्फ फाइनेंस मोड में संचालित किए जाते हैं। ऐसे में छात्रों की फीस से इतना भी नहीं मिल पा रहा कि इन पाठ्यक्रमों को पढ़ाने के लिए अलग से ​शिक्षक रखे जाएं। कुछ कॉलेजों में अ​धिकतम दो या तीन ​शिक्षक हैं। उन्हें स्नातक की पढ़ाई भी करानी है। अतिरिक्त कार्य के मद्देनजर वे नियमित रूप से पीजी या यूजी की क्लास नहीं ले पा रहे और इससे ​शिक्षा की गुणवत्ता प्रभावित हो रही है।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।