DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  प्रयागराज  ›  मुम्बई से लौटने वालों की संख्या हुई दोगुनी

प्रयागराजमुम्बई से लौटने वालों की संख्या हुई दोगुनी

हिन्दुस्तान टीम,प्रयागराजPublished By: Newswrap
Sun, 11 Apr 2021 03:00 PM
महाराष्ट्र में कोराना संक्रमण का असर वहां रहकर काम करने वाले उत्तर भारतीयों पर पड़ा। जिसका नतीजा ये रहा कि वापसी का सिलसिला शुरू हो...
1 / 2महाराष्ट्र में कोराना संक्रमण का असर वहां रहकर काम करने वाले उत्तर भारतीयों पर पड़ा। जिसका नतीजा ये रहा कि वापसी का सिलसिला शुरू हो...
महाराष्ट्र में कोराना संक्रमण का असर वहां रहकर काम करने वाले उत्तर भारतीयों पर पड़ा। जिसका नतीजा ये रहा कि वापसी का सिलसिला शुरू हो...
2 / 2महाराष्ट्र में कोराना संक्रमण का असर वहां रहकर काम करने वाले उत्तर भारतीयों पर पड़ा। जिसका नतीजा ये रहा कि वापसी का सिलसिला शुरू हो...

प्रयागराज। कार्यालय संवाददाता

महाराष्ट्र में कोराना संक्रमण का असर वहां रहकर काम करने वाले उत्तर भारतीयों पर पड़ा। जिसका नतीजा ये रहा कि वापसी का सिलसिला शुरू हो गया। बीते मार्च महीने से ही महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमण तेजी फैलना शुरू हुआ था। आंकड़ों पर नजर डालें तो साफ पता चलता है कि प्रयागराज जंक्शन और छिवकी स्टेशन पर लौटने वालों की संख्या जाने वालों से लगभग दोगुनी है। प्रयागराज जंक्शन से मार्च 2021 में 16000 लोगों ने यात्रा की वहीं लगभग 24000 लोग वापस आए। इसी प्रकार छिवकी स्टेशन से जाने वालों की संख्या 8500 रही और वापसी करने वालों की संख्या दोगुनी यानी 15000 रही। महाराष्ट्र खास कर मुम्बई में जब कोरोना संक्रमण बढ़ने लगा तो तमाम पाबंदियां लगा दी गईं। मुख्य रूप से मॉल, होटल और कारखाने बंद कर दिए गए। उत्तर प्रदेश से बड़ी संख्या में लोग मुम्बई के होटल, मॉल्स और बाजारों में काम करते हैं। सब कुछ बंद होने के बाद वहां रहने वालों के पास कोई काम नहीं बचा था। इसलिए अधिकांश लोगों ने वापसी करने को ही सही माना। इसके साथ ही कोरोना के डर ने भी मुम्बई में रह रहे लोगों को अपने शहर लौटने के लिए मजबूर कर दिया।

संबंधित खबरें