DA Image
17 सितम्बर, 2020|4:55|IST

अगली स्टोरी

जलकर बिल में किया जाएगा संशोधन

default image

जलकर वृद्धि को लेकर उपजे विवाद के बीच जलकल के जीएम कार्यालय में कार्यकारिणी सदस्यों की बैठक हुई। कहा गया कि एक सितंबर को जलकल के मुद्दे पर हुई कार्यकारिणी की बैठक में लिए गए निर्णयों का पालन कराया जाएगा। जिन लोगों को बढ़ा हुआ बिल भेजा गया है उसे संशोधित किया जाएगा। जिन्होंने ज्यादा बिल जमा कर दिया है उसे अगले बिल में समायोजित किया जाएगा।

जीएम जलकल हरिश्चंद्र बाल्मिकी ने बताया कि आवासीय व व्यवसायिक भवनों के जिन उपभोक्ताओं द्वारा वित्तीय वर्ष 2014-15 के पूर्व से जलकर व सीवर प्रभार धनराशि का भुगतान नहीं किया जा रहा है उनसे 2014-15 से बढ़े हुये मूल्यांकन के आधार एरियर धनराशि की वसूली की जायेगी। जिन्होंने 2014-15 से वित्तीय वर्ष 2019-20 में मध्य जलकर बिल भुगतान नहीं किया है, ऐसे उपभोक्ताओं से बढ़े हुये मूल्यांकन के आधार पर एरियर की धनराशि वसूली नहीं की जायेगी। ऐसे उपभोक्ताओं को 2020-21 से ही बढ़े हुये मूल्यांकन के आधार पर जलकर भुगतान करना होगा। बैठक में मिथिलेश सिंह, अशोक सिंह आदि मौजूद थे।