DA Image
9 अगस्त, 2020|7:40|IST

अगली स्टोरी

प्रयागराज की तरह अन्य स्टेशनों पर ट्रेन छूटने से पहले बजेगी घंटी

प्रयागराज की तरह अन्य स्टेशनों पर ट्रेन छूटने से पहले बजेगी घंटी

प्रयागराज की तर्ज पर देश के सभी बड़े स्टेशनों पर प्रमुख ट्रेनों के प्रस्थान से दो मिनट पहले घंटी बजाकर यात्रियों को सचेत किया जाएगा। प्रयागराज जंक्शन पर सबसे पहले लागू हुई व्यवस्था को रेलवे बोर्ड ने देश के लगभग सभी बड़े स्टेशनों पर लागू करने का फैसला किया है।

प्रयागराज जंक्शन और आनंद विहार के बीच चलने वाली हमसफर एक्सप्रेस में स्थापित रियल टाइम ऑन बोर्ड सीसीटीवी मॉनीटरिंग सिस्टम को भी बोर्ड ने अन्य ट्रेनों में लागू करने का फैसला किया है। रेलवे के सभी जोन व अन्य इकाइयों में होने वाले नए कामों की योजना बोर्ड ने 14 सितंबर 2018 से 31 दिसंबर 2019 के बीच किए कार्यों का ब्योरा मांगा था। देशभर से बोर्ड के पास 2645 योजनाएं भेजी गईं। बोर्ड की कोर टीम ने योजनाओं का अध्ययन करने के बाद 20 महत्वपूर्ण कामों को चुनकर अन्य इकाइयों में लागू करने का निर्णय लिया।

इनमें आठ योजनाएं उत्तर मध्य रेलवे प्रयागराज मंडल की हैं। एक योजना में प्रयागराज के साथ आगरा मंडल मुख्यालय में लगा वायु प्रदूषण मापक उपकरण भी शामिल है। उत्तर मध्य रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी अजीत सिंह ने बताया कि सभी जोन व अन्य इकाइयों में लागू की गई 20 योजनाओं में उत्तर मध्य रेलवे की आठ प्रयोगों का बोर्ड की तरफ से सभी जोन या इकाइयों में लागू करने का निर्णय जोन के लिए बड़ी उपलब्धि है। सीपीआरओ के मुताबिक बाकी जोन के स्वीकृत प्रस्तावों को उत्तर मध्य रेलवे भी शुरू करेगा।

उत्तर मध्य रेलवे की बोर्ड में स्वीकृत योजनाएं

1-ट्रेन प्रस्थान के दो मिनट पहले स्टेशन पर घंटी बजाना।

2-हमसफर एक्सप्रेस का रियल टाइम ऑन बोर्ड सीसीटीवी मॉनिटरिंग सिस्टम लगाना।

3-कानपुर लोकोमोटिव में लगाए गए होटल लोड परीक्षण कनवर्टर के लिए टॉगल स्विच।

4-चुनार में स्थापित भारतीय रेल का पहला हॉट एक्सल कम हॉट व्हीलर डिटेक्टर।

5-प्रयागराज-आगरा में लगा वायु गुणवत्ता मॉनिटरिंग सिस्टम।

6-मंडलीय स्टोर प्रयागराज में ऑनलाइन नॉन स्टॉक डिमांड व ईश्यू नोट।

7-इम्प्रेस्ट नोट जनरेशन तथा हाईस्पीड डीजल की डिलेवरी।

8-ट्रांसलोमोटिक रोबोटिक वेल्डिंग तकनीक से सीएमएस क्रॉसिंग की मरम्मत व व्हीक्यूलर प्रणाली से अल्ट्रासोनिक फ्लॉ डिटेक्शन प्रणाली का उपयोग कर रेल व वेल्ड विफलता का पता लगाना।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:The bell will ring before the train misses at other stations like Prayagraj