DA Image
11 अगस्त, 2020|5:49|IST

अगली स्टोरी

सुझाव: बहुविकल्पीय प्रश्नों को विश्वविद्यालय ज्यादा दें महत्व

सुझाव: बहुविकल्पीय प्रश्नों को विश्वविद्यालय ज्यादा दें महत्व

विश्वविद्यालयों में वार्षिक एवं प्रवेश परीक्षा आयोजित करने के लिए यूजीसी की ओर से गठित कमेटी ने कोरोना वायरस के प्रकोप को देखते हुए जरूरी सुझाव एवं दिशा निर्देश जारी किया है। इसी के मद्देनजर इलाहाबाद विश्वविद्यालय प्रशासन ने तैयारियां तेज कर दी हैं। कुलपति की अध्यक्षता में 04 मई को परीक्षा समिति की बैठक बुलाई गई है। परीक्षा में नए शैक्षिक सत्र एवं यूजीसी के सुझाव पर विस्तार से चर्चा होगी। इसके बाद परीक्षा के लिए नया कार्यक्रम जारी किया जाएगा।

यूजीसी ने विश्वविद्यालयों को सुझाव दिया है कोरोना वायरस को देखते हुए सोशल डिस्टेंसिंग को ध्यान में रखकर परीक्षाएं आयोजित कराई जाए। एक सुझाव यह है कि वार्षिक परीक्षा में बहुविकल्पी प्रश्नों की संख्या ज्यादा हो। प्रश्नों की संख्या भी कम हो। परीक्षा के लिए तय समय में भी कटौती की जाए। ताकि कॉपियों के मूल्यांकन में आसानी होगी। इससे समय पर रिजल्ट जारी करने में सुविधा होगी। परीक्षा नियंत्रक प्रो. रमेंद्र कुमार ने बताया कि 04 मई को परीक्षा समिति की बैठक बुलाई गई है। बैठक में वार्षिक एवं सेमेस्टर परीक्षा कराने की तैयारी पर चर्चा होगी।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Suggestion University should give more importance to multiple choice questions