DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  प्रयागराज  ›  संकट काल में स्ट्रीट डॉग्स को विदेश में मिला सहारा

प्रयागराजसंकट काल में स्ट्रीट डॉग्स को विदेश में मिला सहारा

हिन्दुस्तान टीम,प्रयागराजPublished By: Newswrap
Tue, 01 Jun 2021 03:40 PM
संकट काल में स्ट्रीट डॉग्स को विदेश में मिला सहारा

प्रयागराज वरिष्ठ संवाददाता

केस वन: 29 मई 2020 को कटरा में चोटिल हालत में एक कुतिया पिंकी मिली थी। किसी वाहन की टक्कर से उसकी गर्दन में काफी चोट आई थी। नेहा, अमित और हर्ष के प्रयासों से वह 7 मार्च 2021 को न्यूयार्क (अमेरिका) के लिए रवाना हुई और आज वहां नए घर में सुरक्षित है।

केस टू: दो साल की कुतिया पंपकिन 3 जून 2020 को फाफामऊ पुल के पास दयनीय अवस्था में मिली थी। तेज स्पीड कार की टक्कर से उसके दोनों पिछले पैर की हड्डियां टूट गई थीं। उसे विशेष वैन से दिल्ली भेजा गया जहां चार महीने तक इलाज चला। पंपकिन भी 21 मई 2021 को अमेरिका भेजी गई।

केस थ्री: लगभग डेढ़ साल की कुतिया विनी 13 मई 2020 को अल्लापुर में मिली थी। सड़क हादसे में उसके भी दोनों पैर की हड्डियां टूट चुकी थीं। महीनों इलाज और दो सर्जरी के बाद अब वह ठीक हो चुकी है। उसका एक और ऑपरेशन होना है जिसके बाद वह कनाडा भेज दी जाएगी।

कोरोना काल में जब अपने सगे एक दूसरे से कतरा रहे हों, ऐसे हालात में प्रयागराज की सड़कों पर ठोकरें खा रहे बेसहारा कुत्तों को अमेरिका में सहारा मिल गया। प्रयागराज के पशु प्रेमियों के एक समूह ने घायल और बीमार मिले दो स्ट्रीट डॉग को अमेरिका भेजने में सफलता पाई है। कोई औपचारिक समूह बनाए बगैर ये पशु प्रेमी अब एक और कुत्ते को कनाडा भेजने की तैयारी में हैं।

सोशल मीडिया की ताकत और अपने व्यक्तिगत प्रयासों के जरिए नेहा सिंह राठौर, अमित राज और हर्ष ने असंभव सी दिखने वाली चीज कर दिखाई है। चोटिल और बीमार मिले स्ट्रीट डॉग्स को पहले इन तीनों ने दिल्ली भेजकर उनके समुचित इलाज का प्रबंध किया। फिर कैलिफोर्निया अमेरिका की हेलेन समरफील्ड ब्राउन (आवारा कुत्तों की मदद करने वाली) व दिल्ली की डॉ. प्रेमलता चौधरी (पालतू जानवरों को विदेशों में भेजने वाली) की मदद से एक सुकून का जीवन देने में सफल रहे।

प्रयागराज में 35 स्ट्रीट डॉग्स को गोद दिलवा चुके

कुंडा प्रतापगढ़ की मूल निवासी और सात साल से प्रयागराज के एक गर्ल्स हॉस्टल में रह रही नेहा सिंह राठौर (27), प्रयागराज से पढ़ाई करके दिल्ली में प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे अमित राज (25) और सीसीटीवी का काम करने वाले कर्नलगंज के हर्ष (35) अब तक 35 स्ट्रीट डॉग्स को प्रयागराज में विभिन्न घरों को गोद दिलवा चुके हैं। इनके इलाज, खाने-पीने समेत दूसरे सभी खर्च ये लोग अपनी जेब से वहन करते हैं।

संबंधित खबरें