ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेश प्रयागराजप्रयागराज जंक्शन पर राजधानी का ठहराव हो, वंदे भारत का समय बढ़ाएं

प्रयागराज जंक्शन पर राजधानी का ठहराव हो, वंदे भारत का समय बढ़ाएं

प्रयागराज जंक्शन पर सभी राजधानी एक्सप्रेस को ठहराव दिया जाए। वंदे भारत का ठहराव दो से बढ़ाकर चार मिनट किया जाए। जिससे सभी मुसाफिरों को सहूलियत...

प्रयागराज जंक्शन पर राजधानी का ठहराव हो, वंदे भारत का समय बढ़ाएं
default image
हिन्दुस्तान टीम,प्रयागराजWed, 19 Jun 2024 08:00 PM
ऐप पर पढ़ें

प्रयागराज जंक्शन पर सभी राजधानी एक्सप्रेस को ठहराव दिया जाए। वंदे भारत का ठहराव दो से बढ़ाकर चार मिनट किया जाए। जिससे सभी मुसाफिरों को सहूलियत हो। टीटीई को मेडिकल किट देने की व्यवस्था की गई है। टीटीई को मेडिकल किट देने के बजाए बीमार यात्री को अगले स्टेशन पर किसी कुशल डॉक्टर को दिखाया जाए। यह सुझाव मंडलीय रेल परामर्शदात्री समिति (डीआरयूसीसी) की बैठक में सदस्यों ने दिए। बुधवार को डीआरएम दफ्तर में हुई बैठक में कई महत्वपूर्ण बिंदुओं पर चर्चा की गई।
प्रयागराज जंक्शन पर कई राजधानी एक्सप्रेस नहीं रुकतीं। सदस्यों ने कहा कि कुम्भ नगरी में इन ट्रेनों का ठहराव होना चाहिए। वंदे भारत प्रयागराज जैसे स्टेशन पर महज दो मिनट रुकती है। इसे चार मिनट ठहरना चाहिए। बुजुर्ग और दिव्यांग तो इस समय में उतर ही नहीं सकते। सदस्यों ने प्रयागराज जंक्शन से होकर गुजरने वाली सियालदाह दूरंतो सहित 14 जोड़ी नॉन स्टॉप ट्रेनों के ठहराव की भी मांग की।

भाजपा नेता शशांक सोनकर ने कहा कि जानकारी हुई है कि ट्रेन में टीटीई को फर्स्ट एड बॉक्स दिया जा रहा है। जिससे यात्री को सबसे पहले टीटीई दवा देता है। उन्होंने सवाल उठाया कि अगर दवा का रिएक्शन हुआ तो इसका जिम्मेदार कौन होगा। ऐसे में टीटीई से दवा न दिलाकर अगले स्टेशन पर किसी योग्य डॉक्टर से मरीज को अटेंड कराया जाए। सदस्य शिवशंकर सिंह ने कहा कि जंक्शन के पुनर्विकास का काम चलने के कारण सिविल लाइंस साइड में धूल उड़ती रहती है। यहां पर हर घंटे पानी का छिड़काव किया जाए, जिससे यात्रियों को परेशानी न हो। प्लेटफार्म नंबर सात, आठ, नौ एवं दस पर लगाए गए अस्थाई शेड को बढ़ाया जाए, जिससे मानसून सीजन में मुसाफिर भींगे न। सदस्य अनीता जायसवाल ने हमसफर एक्सप्रेस का गाजियाबाद में ठहराव का सुझाव दिया और मुम्बई दूरंतो के फेरे बढ़ाने का सुझाव भी दिया। डीआरएम हिमांशु बडोनी ने सुझाव पर उचित अमल करने का आश्वासन दिया। सीनियर डीसीएम हिमांशु शुक्ला ने पावर प्वाइंट प्रजेंटेशन से उपलब्धियां बताईं। इस दौरान प्रयागराज से त्रिभुवन पटेल, शिव प्रसाद त्रिपाठी, नोएडा से विनोद कुमार, गुरुग्राम से अमरेंद्र कुमार, अलीगढ़ से संजय पंडित, फर्रुखाबाद से राजेश हजेला, इटावा से गोपाल यादव, कानपुर से महेंद्र नाथ मोदी, जीतेंद्र कुमार पांडेय, वीरेंद्र कुमार, फतेहपुर से गिरीश चंद्र यादव आदि मौजूद रहे।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।