ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेश प्रयागराजरेलवे तलाश रहा डॉक्टर, मिल ही नहीं रहे

रेलवे तलाश रहा डॉक्टर, मिल ही नहीं रहे

प्रयागराज। फरहत खान । बड़े रेलवे स्टेशनों पर 24 घंटे क्लीनिक खोल यात्रियों को ओपीडी, जांच, दवाओं समेत अन्य सुविधा देने का मामला लटकता जा रहा...

रेलवे तलाश रहा डॉक्टर, मिल ही नहीं रहे
हिन्दुस्तान टीम,प्रयागराजMon, 04 Dec 2023 11:15 AM
ऐप पर पढ़ें

प्रयागराज। फरहत खान
बड़े रेलवे स्टेशनों पर 24 घंटे क्लीनिक खोल यात्रियों को ओपीडी, जांच, दवाओं समेत अन्य सुविधा देने का मामला लटकता जा रहा है। उत्तर मध्य रेलवे के प्रयागराज मंडल के स्टेशनों पर ईएमआर योजना के तहत इमरजेंसी मेडिकल रूम (क्लीनिक) खोलने की तैयारी कर ली गई लेकिन अब तक रेलवे को डॉक्टर नहीं मिले। प्रयागराज जंक्शन, कानपुर सेंट्रल रेलवे स्टेशन पर इमरजेंसी मेडिकल रूम खोलने के लिए रेलवे ने टेंडर निकाला लेकिन शहर के बड़े डॉक्टरों, नर्सिंग होम संचालकों, फार्मों और सेवा वाली कंपनियों ने रूचि ही नहीं ली। यहां तक की रेलवे की ओर से कई बड़े डॉक्टरों से संपर्क कर उन्हें इसकी जरूरत और खूबी बताई गई लेकिन अब तक कोई सामने नहीं आया। 24 घंटे तीन शिफ्टों में तीन डॉक्टरों की ड्यूटी रेलवे स्टेशन पर लगेगी। पेंच यहीं फंस रहा है। ईएमआर का टेंडर लेने वाले ओपीडी के लिए तीन डॉक्टर बैठाने में असमर्थ नजर आ रहे हैं। अब रेलवे फिर से इसे खोलने की प्रक्रिया में लगा हुआ है। असल में यात्रियों को 24 घंटे इलाज मिले। ट्रेनों, स्टेशनों पर यात्रियों की तबीयत बिगड़ जाए तो तत्काल मौके पर ही इलाज मुहैया हो, डॉक्टर, जांच और दवा के लिए यात्रियों को भटकना न पड़े और उनकी जान बचाई जा सके। सफर के दौरान की इस सबसे अहम सुविधा को मुहैया कराने के लिए रेलवे ने योजना तैयार की है। इसी के तहत टेंडर निकाले गए। रेलवे की ओर से डॉक्टर, फर्म, कंपनी को एक क्लीनिक जैसा रूम आदि उपलब्ध कराया जाएगा। इसमें ओपीडी, जांच, छोटे मेडिकल स्टोर भी होगा।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें