DA Image
25 सितम्बर, 2020|1:47|IST

अगली स्टोरी

मंसूर पार्क में प्रदर्शनकारियों ने नेताजी को किया याद

मंसूर पार्क में प्रदर्शनकारियों ने नेताजी को किया याद

नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ महिलाओं का मंसूर अली पार्क में धरना-प्रदर्शन गुरुवार को भी जारी रहा। प्रदर्शनकारी महिलाओं ने जयंती पर सुभाष चंद्र बोस को याद किया। हाथ में उनकी तस्वीर लेकर उनके दिए हुए नारे तुम मुझे खून दो, मैं तुम्हें आजादी दूंगा... लगाए। दिल्ली से पहुंचे सुप्रीम कोर्ट के अधिवक्ता महमूद प्राचा ने सभा को संबोधित किया।

दोपहर बाद करीब ढाई बजे सुप्रीम कोर्ट के अधिवक्ता महमूद प्राचा दिल्ली से धरनास्थल पर पहुंचे। उन्होंने प्रदर्शनकारी महिलाओं को संबोधित किया। कहा, वह इसी तरह पूरे जज्बे के साथ अपनी लड़ाई पर डटीं रहें। कोर्ट से उन्हें जरूर न्याय मिलेगा। कई और वक्ताओं ने भी अपने विचार रखे।

कई जगह से निकला जुलूस

सीएए के खिलाफ मंसूर पार्क में चल रहे धरना-प्रदर्शन में शामिल होने के लिए गुरुवार को कई जगहों से जुलूस निकाला गया। चिकवन टोल, दौंदीपुर, दरियाबाद, रसूलपुर, करेली, अटाला समेत करीब दर्जनभर मोहल्लों से महिलाओं और बच्चों ने जुलूस निकाला गया। टोलियों के रूप में ये धरना स्थल पर पहुंचे। महिलाओं और बच्चों के हाथ में तिरंगा झंडा और सीएए के खिलाफ पोस्टर व बैनर थे।

धरने पर बैठे लोगों को दिया योग मंत्र

मंसूर अली पार्क के धरने में शामिल महिलाओं व बच्चों को योग का मंत्र भी दिया गया। डॉ. सरताज आलम के नेतृत्व में लोगों को तरह-तरह की बीमारियों से मुक्ति के लिए तरीके बताए गए। योग गुरु डॉ. मुंतजिर ने सभी महिलाओं और बच्चों को कई तरह की बीमारियों से राहत पाने के तरीके बताए। सभी लोगों ने योग किया भी। इस दौरान उनके साथ डॉ. कमल उसरी, मेराज हाशमी, आरिफ सिद्दीकी, अब्दुल्ला तहमीन आदि मौजूद रहे।

पहुंचीं ग्रामीण इलाके की महिलाएं

सीएए के खिलाफ अब ग्रामीण इलाकों की महिलाएं भी सक्रिय हो गई हैं। मंसूर पार्क में चल रहे धरना में बड़ी संख्या में ग्रामीण इलाके की महिलाएं पहुंच रही हैं। घूरपुर इलाके से महिलाओं का एक जत्था धरने में शामिल हुआ। उनमें से कई महिलाओं ने प्रदर्शनकारियों के बीच अपनी बात भी रखी।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Protestors remember Netaji at Mansoor Park