DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  प्रयागराज  ›  प्रयागराज अनलॉक: अब आज से आपके हवाले शहर

प्रयागराजप्रयागराज अनलॉक: अब आज से आपके हवाले शहर

हिन्दुस्तान टीम,प्रयागराजPublished By: Newswrap
Tue, 01 Jun 2021 04:41 AM
31 दिनों के लॉकडाउन के बाद प्रयागराज भी एक जून से अनलॉक होने वाले जिलों में शामिल हो गया है। प्रयागराज का अनलॉक कितने दिन चलेगा यह यहां संक्रमण के...
1 / 331 दिनों के लॉकडाउन के बाद प्रयागराज भी एक जून से अनलॉक होने वाले जिलों में शामिल हो गया है। प्रयागराज का अनलॉक कितने दिन चलेगा यह यहां संक्रमण के...
31 दिनों के लॉकडाउन के बाद प्रयागराज भी एक जून से अनलॉक होने वाले जिलों में शामिल हो गया है। प्रयागराज का अनलॉक कितने दिन चलेगा यह यहां संक्रमण के...
2 / 331 दिनों के लॉकडाउन के बाद प्रयागराज भी एक जून से अनलॉक होने वाले जिलों में शामिल हो गया है। प्रयागराज का अनलॉक कितने दिन चलेगा यह यहां संक्रमण के...
31 दिनों के लॉकडाउन के बाद प्रयागराज भी एक जून से अनलॉक होने वाले जिलों में शामिल हो गया है। प्रयागराज का अनलॉक कितने दिन चलेगा यह यहां संक्रमण के...
3 / 331 दिनों के लॉकडाउन के बाद प्रयागराज भी एक जून से अनलॉक होने वाले जिलों में शामिल हो गया है। प्रयागराज का अनलॉक कितने दिन चलेगा यह यहां संक्रमण के...

प्रयागराज वरिष्ठ संवाददाता

31 दिनों के लॉकडाउन के बाद प्रयागराज भी एक जून से अनलॉक होने वाले जिलों में शामिल हो गया है। प्रयागराज का अनलॉक कितने दिन चलेगा यह यहां संक्रमण के हालात पर निर्भर करेगा। अगर लोगों ने एहतियात बरती और संक्रमण नहीं बढ़ा तो कोई दुश्वारी नहीं होगी। शासन की गाइडलाइन के अनुसार जिले में जैसे ही सक्रिय केस 600 पार होंगे जिला प्रशासन लॉकडाउन घोषित कर दुकानें बंद करा सकता है। फिलहाल प्रयागराज में एक जून से तमाम पाबंदियां खत्म होने जा रहीं हैं।

दुकान और बाजारों के लिए नियम

कंटेनमेंट जोन को छोड़कर सभी बाजार की दुकानें सुबह सात से शाम सात बजे तक खोली जाएंगी। हर शनिवार और रविवार को साप्ताहिक बंदी होगी। यानी जिले के 63 क्लस्टर कंटेनमेंट जोन अभी पूरी तरह बंदी के दायरे में रहेंगे।

सब्जी मंडियां

सब्जी मंडियां पूर्व की भांति ही खुलेंगी। आवश्यक सेवा में शामिल इन मंडियों को पाबंदियों के दायरे के बाहर रखा गया है।

दफ्तरों के लिए नियम

कलक्ट्रेट, स्वास्थ्य विभाग, नगर निगम, विकास भवन, पुलिस विभाग, श्रम विभाग, कोषागार, बैंक, बीमा कंपनियों जैसे विभाग जिनके कर्मचारी फ्रंटलाइन वर्कर माने जाते हैं, पूर्ण क्षमता के साथ खोले जाएंगे। जबकि ऐसे दफ्तर जिनकी कोविड-19 में कम उपयोगिता है या जिनके कर्मचारी फ्रंटलाइन वर्कर में नहीं आते, वो एक दिन में 50 फीसदी कर्मचारी ही बुलाएंगे।

रेस्टोरेंट्स को सिर्फ होम डिलेवरी की अनुमति

रेस्टोरेंट्स को अभी सिर्फ होम डिलेवरी की अनुमति दी जाएगी। रेस्तरां में बैठाकर खिलाने की व्यवस्था फिलहाल नहीं होगी। हाईवे पर होटल, ठेले और ढाबे खोलने की अनुमति दी गई है।

शिक्षण संस्थानों में पढ़ाई ऑनलाइन

उच्च, माध्यमिक और प्राथमिक शिक्षण संस्थानों में अभी शिक्षण कार्य ऑनलाइन ही होगा। सिर्फ प्रशासनिक कार्य के लिए शिक्षण संस्थानों को खोला जा सकेगा।

शादियों, समारोहों में सिर्फ 25 लोग

शादी समारोह चाहे हॉल में हो या खुले स्थान पर सिर्फ अधिकतम 25 लोगों के शामिल होने की अनुमति होगी। बैठने के लिए उचित दूरी रखना जरूरी है। शौचालय में स्वच्छता और सेनेटाइजेशन का प्रबंध होना चाहिए।

बसों में खड़े होने की अनुमति नहीं

परिवहन निगम की बसों में जितनी सीट उतने ही यात्री सवार हो सकेंगे। क्षमता से अधिक लोग सफर नहीं कर सकेंगे। एक भी सवारी खड़े रहने पर बस का संचालन नहीं किया जाएगा। रेलवे स्टेशन, एयरपोर्ट और बस अड्डे पर दो गज दूरी और मास्क का नियम लागू होगा। थर्मल पावर स्कैनिंग का बंदोबस्त करना होगा।

कैब, ऑटो और ई-रिक्शा के नियम

दुपहिया चालकों को मानक के अनुसार ही लोग बैठाने होंगे। हेलमेट मास्क और फेस कवर जरूरी होगा। ऑटो रिक्शा पर चालक के साथ अधिकतम दो सवारी, बैट्री चालित ई रिक्शा पर चालक सहित अधिकतम तीन सवारी की अनुमति होगी। कार में चार सवारी अधिकतम हो सकती है।

निजी कंपनियों के लिए नियम

निजी कंपनियों को ज्यादा से ज्यादा वर्क फ्रॉम होम को प्रोत्साहित करना है। इकाइयां खुलेंगी, लेकिन कोविड-19 की गाइडलाइन का पालन करना होगा। निर्माण कार्य पूर्व की भांति होते रहेंगे।

फिलहाल यहां पर रहेगी पूरी बंदी

होटल, रेस्टोरेंट, मॉल, बार, कोचिंग संस्थान, स्वीमिंग पूल और सिनेमाघर फिलहाल पूरी तरह बंद रहेंगे। इन्हें खोलने के लिए अब तक गाइडलाइन नहीं आई है।

यहां बढ़ जाएंगी चुनौतियां

अनलॉक हुए प्रयागराज में चुनौतियां बढ़ना तय हो गया है। जैसे ही दफ्तर और बाजार खुलेंगे लोगों की भीड़ जुटेगी। खासकर भीड़भाड़ और घनी आबादी वाले इलाकों में।

जानिए हम और आप क्या करें

जिले को अगर अब लॉकडाउन से बचाना है तो कुछ जिम्मेदारियों का पालन हम सबको करना होगा। जैसे बेवजह घर से न निकलना, मास्क पहनना, सामाजिक दूरी बनाए रखना, पब्लिक ट्रांसपोर्ट में एहतियात, सेनेटाइजेशन, हाथ साफ करना, अपनी बारी आने पर जल्द से जल्द वैक्सीनेशन कराना। क्योंकि यही वो तरीके हैं जिससे महामारी का ग्राफ कम होता जाएगा और एक दिन हम शून्य पर पहुंच जाएंगे। अगर इसमें एक भी नियम तोड़े तो मुश्किलें फिर बढ़ेंगी।

दुकानदारों से अपेक्षित सहयोग

अपनी दुकानों के सामने भीड़ न जुटने दें। लोगों को मास्क पहनने पर ही सामान दें। बेवजह भीड़ न एकत्र करें। सेनेटाइजेशन का इस्तेमाल करने के लिए प्रेरित करें। हो सके तो ग्लव्स पहनकर ही सामान दें। ज्यादा से ज्यादा ऑनलाइन पेमेंट को ही वरीयता दें।

इनका कहना है

शासन की गाइडलाइन के अनुसार जिले को कोरोना कर्फ्यू से कुछ राहत दी जा रही है। जैसी गाइडलाइन है उसके अनुसार काम किया जा रहा है। आम नागरिकों से मदद की अपेक्षा है। लोगों ने हमेशा सहयोग दिया है। उम्मीद है कि आगे भी देंगे।

भानु चंद्र गोस्वामी, जिलाधिकारी

संबंधित खबरें