DA Image
25 फरवरी, 2021|4:04|IST

अगली स्टोरी

सामूहिक हत्याकांड: होमगार्ड फरार, मोबाइल की तलाश जारी

सामूहिक हत्याकांड: होमगार्ड फरार, मोबाइल की तलाश जारी

होलागढ़ के बरई हरखपुर गांव में एक ही परिवार के 4 लोगों की हत्या के मामले में कहानी उलझती जा रही है। मारे गए वैद्य विमलेश पांडेय के घर से लूटा हुआ मोबाइल पड़ोसी होमगार्ड के घर होने की जानकारी पर पुलिस ने वहां छापेमारी की तो होमगार्ड फरार हो गया। रविवार को पुलिस ने होमगार्ड के बेटे की निशानदेही पर घर के पास स्थित तालाब में मोबाइल तलाश करने के लिए उसमें से पानी निकलवाया। शाम तक मोबाइल बरामद नहीं हो सका। क्राइम ब्रांच होमगार्ड के बेटे, बेटी और पत्नी को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है।

होमगार्ड के बेटे को मिला था मोबाइल

पुलिस ने बताया कि विमलेश पांडेय उनकी बेटे और दोनों बेटियों की हत्या के बाद से उनका मोबाइल गायब था। सर्विलांस की मदद से पता चला शनिवार को विमलेश पांडेय के मोबाइल से बातचीत हो रही है। पुलिस ने उस नंबर पर कॉल किया तो विमलेश के पड़ोस में ही रहने वाले एक होमगार्ड के बेटे ने फोन रिसीव किया। उसने पुलिस को बताया कि उसे खेत में मोबाइल मिला था। शक के आधार पर पुलिस उससे पूछताछ करने पहुंची लेकिन पुलिस को मोबाइल नहीं मिला। होमगार्ड की बेटी ने कहा कि बार-बार फोन आने से वो डर गई और उसने मोबाइल को घर के पास स्थित तालाब में फेंक दिया।

तालाब में मोबाइल की तलाश

क्राइम ब्रांच और स्थानीय पुलिस रविवार को मोबाइल बरामदगी के लिए जुट गई। तलाब में पानी भरा था। ऐसे में मोबाइल का पता लगाने के लिए पुलिस ने तालाब से पानी निकालना शुरू किया। सुबह से लेकर शाम तक यह ऑपरेशन चला, लेकिन पुलिस को मोबाइल नहीं मिला। पुलिस का कहना है कि मोबाइल मिलने के बाद इससे काफी क्लू मिल सकता है। अभी तक जितने सामूहिक हत्याकांड के मामले आएं हैं उनमें किसी में मोबाइल लूट की बात सामने नहीं आई थी। यह पहली घटना है जिसमें मोबाइल गया था लेकिन वह भी पड़ोसी के घर मिल गया है।

होमगार्ड ने खुल्दाबाद थाने में की थी ड्यूटी

बताया जा रहा है कि इस खुलासे के बाद से संदिग्ध होमगार्ड फरार है। वह कहां गायब है इसका पता नहीं चल पा रहा है। उसके परिजन भी होमगार्ड के बारे में कुछ नहीं बता पाए। पुलिस की माने तो होमगार्ड शहर के खुल्दाबाद थाने में तैनात है और बीते गुरुवार रात वह थाने में ड्यूटी किया था। इसके अलावा वह धूमनगंज में इनामी की गिरफ्तारी में भी शामिल था। ऐसे में पुलिस अफसर भी नहीं समझ पा रहे हैं कि होमगार्ड फरार क्यों है। अगर उसकी गलती नहीं है तो वह पुलिस को बयान देने सामने क्यों नहीं आ रहा है। उसके परिवार के लोग डरे सहमे क्यों हैं। उसकी फरारी से पुलिस का शक गहराता जा रहा है।

होमगार्ड के घर के पास घूमता रहा खोजी कुत्ता

पुलिस की माने तो वारदात के बाद जब खोजी कुत्ता घटनास्थल पर पहुंचा तो वहां से निकलकर होमगार्ड के घर के पास तक गया था। बताया जा रहा है कि वहीं कहीं मोबाइल भी होमगार्ड के बेटे को मिला था। रविवार को फिर से खोजी कुत्ता को बुलाया गया। वह वहीं आस-पास ही भटकता रहा। ऐसे में उम्मीद जताई जा रही है की इसी घटनास्थल से पुलिस को कोई साक्ष्य मिल सकता है।

वैद्य के बेटे की फोन पर होती थी बातचीत

होमगार्ड के घर पर छापेमारी के बाद गांव में तरह-तरह की चर्चाएं शुरू हो गई हैं। गांव वालों की मानें तो वैद्य का बेटा और होमगार्ड की बेटी फोन पर एक दूसरे से बात करते थे। मोबाइल न होने पर फोन से बात करने के लिए वैद्य का बेटा अपना दूसरा मोबाइल उसे दे देता था। वारदात से कुछ दिनों पहले किसी बात को लेकर उनके बीच विवाद होने की बात भी सामने आई है। इसको देखते हुए पुलिस अफसर सर्विलांस की मदद से सभी की कॉल डिटेल खंगाल रहे हैं। अभी इस मामले में कोई कुछ बोलने को तैयार नहीं है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Mass murder Homeguard absconding search for mobile continues