DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  प्रयागराज  ›  कोरोना काल में विशेषज्ञों की कमी बनी मुसीबत
प्रयागराज

कोरोना काल में विशेषज्ञों की कमी बनी मुसीबत

हिन्दुस्तान टीम,प्रयागराजPublished By: Newswrap
Thu, 10 Sep 2020 04:53 PM
कोरोना काल में विशेषज्ञों की कमी बनी मुसीबत

कोरोना काल में कोविड अस्पताल विशेषज्ञों की कमी से भी जूझ रहे हैं। एलटू तेज बहादुर सप्रू अस्पताल (बेली) इसका ताजा प्रमाण है। यहां लंबे समय से फिजिशियन व ईएमओ की कमी है। इस वजह से उपचार संबंधी कार्य में काफी परेशानी हो रही है। हालांकि अस्पताल प्रशासन की ओर से इस बाबत शासन को पत्र लिखा गया है।

जानकारी के अनुसार, यहां दो माह से चार फिजिशियन के पद रिक्त हैं। ईएमओ के भी तीन पदों को भरने की मांग एक साल से की जा रही है। सबसे अधिक दिक्कत एक भी चेस्ट फिजिशियन के नहीं होने से है। जैसे-तैसे काम किया जा रहा है। कई बार शासन को पत्र लिखा गया, लेकिन अबतक कोई ठोस कदम नहीं उठाया जा सका। फिलहाल वर्तमान में अस्पताल में केवल कोविड मरीजों का इलाज किया जा रहा है। अस्पताल की सीएमएस डॉ. सुषमा श्रीवास्तव के अनुसार, फिजिशियन व ईएमओ की कमी से काफी परेशानी हो रही है। मरीजों को कोई दिक्कत नहीं हो, इसका पूरा ख्याल रखा जा रहा है। शासन को कमी को खत्म करने के लिए पत्र लिखा गया है। उम्मीद है कि जल्द व्यवस्था कर दी जाएगी।

दो फिजिशियन के सहारे कार्य :

अस्पताल में केवल दो फिजिशियन के सहारे कार्य किया जा रहा है। इसके चलते काम काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। बताया गया कि इनमें से एक का रिटायरमेंट अक्तूबर में होना है। सूत्रों के मुताबिक, कोरोना गाइडलाइन का भी पालन नहीं किया जा रहा है। शासन के आदेश के मुताबिक, 60 साल से अधिक आयु वाले विशेषज्ञों से कोरोना मरीजों का इलाज नहीं कराना है। हालांकि यहां 62 वर्ष के फिजिशियन कमी के चलते उपचार कर रहे हैं।

संबंधित खबरें