DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › प्रयागराज › कैसे रुकेगा अपराध: यहां तो रिश्तों का बहा रहे खून
प्रयागराज

कैसे रुकेगा अपराध: यहां तो रिश्तों का बहा रहे खून

हिन्दुस्तान टीम,प्रयागराजPublished By: Newswrap
Sun, 01 Aug 2021 03:52 AM
कैसे रुकेगा अपराध: यहां तो रिश्तों का बहा रहे खून

प्रयागराज में क्या अपने ही अपनों के खून के प्यासे हैं। यह सवाल पिछले एक हफ्ते में मासूम समेत 9 लोगों को मौत के घाट उतारे जाने के बाद खड़ा हुआ है। क्योंकि पुलिस का दावा है कि इन वारदातों में दो को छोड़कर अन्य में अपनों ने ही रिश्तों का खून बहाया। मासूम बिटिया को बाप ने मार दिया। पत्नी को पति ने मार डाला। मामा की भांजे ने सुपारी देकर हत्या करा दी। इस तरह की वारदात से रिश्ते तार-तार हो रहे हैं।

पुलिस रिकॉर्ड के मुताबिक 26 जुलाई को करछना में सर्राफ रामराज सोनी की घर के बाहर गोली मारकर हत्या की गई। जब पुलिस ने खुलासा किया तो पता चला कि उसके भांजे बबलू ने हत्या कराई थी। 26 जुलाई को मेजा में सुशील और उसकी पत्नी में किसी बात को लेकर विवाद हो गया। इस नोकझोंक में सुशील ने अपनी 21 दिन की बेटी शिवानी की गला घोंटकर हत्या कर दी। इसी तरह करेली में गर्भवती कंचन की मौत पति की पिटाई से हो गई। करेली पुलिस ने आरोपी गोरेलाल निषाद को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। 28 जुलाई को उतरांव के मुकेश का सैदाबाद में कुंए में शव मिला। पता चला कि उसके भाई के ससुरालवालों ने वारदात की है। इसी तरह 30 जुलाई को फाफामऊ में नाजिया की हत्या कर दी गई। पुलिस ने उसके पति जहांगीर समेत अन्य के खिलाफ दहेज हत्या की एफआईआर दर्ज की है। इन सभी वारदातों में हत्यारोपी अपने ही निकले। इसके अलावा 27 जुलाई को कौंधियारा में फेसबुक पर आपत्तिजनक पोस्ट करने पर सोनू यादव की हत्या में गांव के ही युवक पकड़े गए। वहीं फाफामऊ में देवनारायण और उसकी पत्नी रंजना की हत्या करने वाले अभी पुलिस की पकड़ से दूर हैं। वहीं,लालापुर से लापता हुई 12 साल की बच्ची की नहर में लाश मिलने के मामले की जांच चल रही है।

संबंधित खबरें