DA Image
15 अगस्त, 2020|4:50|IST

अगली स्टोरी

हाईकोर्ट: टीजीटी 2004 भर्ती में पुरानी पेंशन की मांग खारिज

हाईकोर्ट: टीजीटी 2004 भर्ती में पुरानी पेंशन की मांग खारिज

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने प्रदेश के हाईस्कूल व इंटर कॉलेजों में 2004 की भर्ती के टीजीटी अध्यापकों को पुरानी पेंशन देने की मांग में दाखिल याचिका पर हस्तक्षेप करने से इनकार कर दिया है। कोर्ट ने कहा कि मार्च 2005 में पुरानी पेंशन योजना समाप्त हो गई है और अप्रैल 2005 से नई पेंशन योजना लागू होने के बाद याचियों की नियुक्ति की गई है। ऐसे में इन्हें पुरानी पेंशन नहीं दी जा सकती।

यह आदेश न्यायमूर्ति एसपी केशरवानी ने मुद्रेश कुमार व चार अन्य की याचिका को खारिज करते हुए दिया है। मामले के तथ्यों के अनुसार टीजीटी भर्ती के साक्षात्कार जुलाई से सितंबर 2005 तक हुए और सितंबर 2005 से फरवरी 2006 तक परिणाम घोषित हुए। विभिन्न विषयों के अध्यापकों की नियुक्ति अक्तूबर 2005 से अक्तूबर 2006 तक की गई। याचियों का कहना था कि सिंचाई विभाग के कनिष्ठ अभियंता भर्ती मामले में मार्च 2006 में नियुक्ति की गई। महेश नारायण के केस में कोर्ट ने उन्हें पुरानी पेंशन देने का निर्देश दिया है। इसी आधार पर उन्हें भी पुरानी पेंशन दी जाए।

कोर्ट ने कहा कि कनिष्ठ अभियंता भर्ती 2000 की है, जो मुकदमेबाजी में उलझी रही।अन्य नियुक्तियों में देरी सरकार की गलती से हुई लेकिन याचियों के मामले में ऐसा नहीं है। टीजीटी भर्ती नियमानुसार पूरी की गई और याचियों की नियुक्ति मार्च 2005 के बाद हुई है इसलिए उन्हें पुरानी पेंशन पाने का हक नहीं है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:High court old pension demand rejected in TGT 2004 recruitment