DA Image
19 सितम्बर, 2020|1:32|IST

अगली स्टोरी

इविवि : अंतिम वर्ष व सेमेस्टर के छात्र देंगे ऑनलाइन परीक्षा

इविवि : अंतिम वर्ष व सेमेस्टर के छात्र देंगे ऑनलाइन परीक्षा

इलाहाबाद विश्वविद्यालय स्नातक (यूजी) अंतिम वर्ष, पीजी व विधि कोर्स के अंतिम सेमेस्टर की परीक्षा ऑनलाइन कराएगा। सुप्रीम कोर्ट के आदेश और यूजीसी के निर्देश के बाद इविवि प्रशासन ने परीक्षा की तैयारी तेज कर दी है। सोमवार को कुलपति प्रो. आरआर तिवारी की अध्यक्षता में एकेडमिक काउंसिल की बैठक में ऑनलाइन परीक्षा कराने पर मुहर लग गई। छात्र अब घर बैठे ऑनलाइन परीक्षा दे सकेंगे। स्नातक अंतिम वर्ष में जिन विषयों की परीक्षा बीते मार्च में (शैक्षिक सत्र 2019-20) सम्पन्न हो चुकी है। उनकी ऑनलाइन परीक्षा नहीं कराई जाएगी। जिन विषयों की परीक्षा नहीं हुई थी उन्हीं की ऑनलाइन परीक्षा कराई जाएगी। मार्च में दिए विषयों की परीक्षा और ऑनलाइन परीक्षा के मूल्यांकन के आधार पर अंतिम वर्ष का रिजल्ट जारी किया जाएगा। जबकि परास्नातक और विधि पाठ्यक्रम के अंतिम सेमेस्टर के सभी प्रश्नपत्रों की परीक्षा ऑनलाइन मोड में कराई जाएगी। क्योंकि इन पाठ्यक्रमों की परीक्षा मार्च में नहीं शुरू हो सकती थी।

इविवि परीक्षा नियंत्रक की ओर से मंगलवार को परीक्षा का विस्तृत कार्यक्रम जारी किया जाएगा। उम्मीद है सितंबर के दूसरे सप्ताह से स्नातक अंतिम वर्ष की परीक्षाएं शुरू हो जाएंगी। स्नातक अंतिम वर्ष और परास्नातक एवं विधि पाठ्यक्रम के तकरीबन 20 छात्र ऑनलाइन परीक्षा में शामिल होंगे। अंतिम वर्ष की परीक्षा पहले शुरू होगी। परास्नातक की परीक्षाएं देर से से शुरू करने की तैयारी है। बैठक में परीक्षा नियंत्रक प्रो. रमेंद्र कुमार सिंह, रजिस्ट्रार, सभी डीन और सभी विभागाध्यक्ष मौजूद रहे।

अधिकतम चार घंटे मिलेगा समय

परीक्षा नियंत्रक प्रो. रमेंद्र कुमार सिंह ने बताया कि परीक्षार्थियों को किन्हीं चार प्रश्नों के उत्तर देने होंगे। परीक्षा के लिए छात्रों को अधिकतम चार घंटे का समय दिया जाएगा। इतने समय में पेपर डाउनलोड करने से लेकर उत्तर पुस्तिका को स्कैन करके अपलोड करना होगा। प्रो. सिंह ने बताया कि परीक्षा के समय पेपर विश्वविद्यालय की वेबसाइट पर अपलोड कर दिया जाएगा। संबंधित छात्र प्रश्नपत्र को डाउनलोड करके प्रिंट ले लेगा। इसके बाद किन्हीं चार प्रश्नों को उत्तर पुस्तिका में हल कर लेगा। उत्तर पुस्तिका को स्कैन कर परीक्षा नियंत्रक के ई-मेल पर भेजना होगा।

प्रायोगिक परीक्षाएं भी होंगी ऑनलाइन

प्रायोगिक परीक्षाएं ऑनलाइन मोड में वाइवा के आधार पर कराई जाएंगी। यदि कोई छात्र किसी पेपर में फेल होता है तो वह इम्प्रूवमेंट परीक्षा भी दे सकता है। इविवि प्रशासन ने यह भी स्पष्ट किया है कि कोरोना वायरस संक्रमण के चलते यह राहत केवल सत्र 2019-20 के लिए ही प्रभावी है।

प्रथम, द्वितीय वर्ष के छात्र सीधे होंगे प्रोन्नत

स्नातक प्रथम वर्ष के छात्रों को अगली कक्षा में सीधे प्रोन्न्त किए जाने का निर्णय लिया गया। चर्चा है कि प्रथम वर्ष के छात्रों को सीधे द्वितीय वर्ष में प्रमोट कर दिया जाएगा। उनकी परीक्षा अब नहीं कराई जाएगी।ं प्रथम वर्ष में जिन विषयों की परीक्षा दी है और जो विषय छूटा है उस विषय का द्वितीय वर्ष में मिलने वाले अंक के आधार पर रिजल्ट जारी कर दिया जाएगा। वहीं द्वितीय वर्ष के छात्रों को सीधे अंतिम वर्ष में प्रोन्न्त कर दिया जाएगा। द्वितीय वर्ष में जिन विषयों की परीक्षा मार्च माह में दी है उसके आधार पर एवं छूटे विषय में प्रथम वर्ष मिले अंक आधार पर रिजल्ट प्रदान कर दिया जाएगा।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:EVI Final year and semester students will take online exam