DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › प्रयागराज › बस परिचालक की सक्रियता से नशीली दवाइयों का सप्लायर गिरफ्तार
प्रयागराज

बस परिचालक की सक्रियता से नशीली दवाइयों का सप्लायर गिरफ्तार

हिन्दुस्तान टीम,प्रयागराजPublished By: Newswrap
Wed, 04 Aug 2021 04:10 AM
प्रयागराज से एमपी जाने वाली एक बस के परिचालक की सक्रियता से कोतवाली पुलिस ने नशीली दवा के सप्लायर को गिरफ्तार कर...
1 / 2प्रयागराज से एमपी जाने वाली एक बस के परिचालक की सक्रियता से कोतवाली पुलिस ने नशीली दवा के सप्लायर को गिरफ्तार कर...
प्रयागराज से एमपी जाने वाली एक बस के परिचालक की सक्रियता से कोतवाली पुलिस ने नशीली दवा के सप्लायर को गिरफ्तार कर...
2 / 2प्रयागराज से एमपी जाने वाली एक बस के परिचालक की सक्रियता से कोतवाली पुलिस ने नशीली दवा के सप्लायर को गिरफ्तार कर...

प्रयागराज से एमपी जाने वाली एक बस के परिचालक की सक्रियता से कोतवाली पुलिस ने नशीली दवा के सप्लायर को गिरफ्तार कर लिया। उसके पास से 297 शीशी कफ सिरप और 120 पत्ता कैप्सूल बरामद हुआ है। ड्रग इंस्पेक्टर की जांच के बाद कोतवाली पुलिस ने आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया। एसपी सिटी ने इस गैंग को संचालित करने वाले आरोपी की गिरफ्तारी के लिए एक टीम का गठन किया है।

बताजा रहा है कि हथिगवां, प्रतापगढ़ निवासी सुभाष मिश्र ने किसी से फोन पर नशीली दवा और कफ सिरप पहुंचाने का ठेका लिया था। उसे एक ट्रिप के लिए एक हजार रुपये मिलने थे। सोमवार को सुभाष को सिविल लाइंस बुलाया गया। वह सिविल लाइंस बस अड्डे पर पहुंचा, जहां उसे एक अटैची व बैग दिया गया। कफ सिरप और कैप्सूल मध्य प्रदेश के कटरा इलाके में पहुंचाना था। वह कफ सिरप और टैबलेट से भरी अटैची व बैग लेकर ई-रिक्शा से चंद्रलोक सिनेमाहाल के पास पहुंचा। वहां पर वह एमपी जाने वाली एक बस में बैठ गया। बस के परिचालक ने अटैची ऊपर रखने को कहा तो सुभाष तैयार नहीं हुआ। जब परिचालक ने अटैची उठाई तो उसे बहुत भारी लगी। शक के आधार पर उसने पुलिस को सूचना दे दी। कोतवाली इंस्पेक्टर नरेंद्र प्रताप, ड्रग्स इंस्पेक्टर गोविंद लाल, दरोगा उपेंद्र सिंह आदि ने आरोपी सुभाष को गिरफ्तार कर लिया। ड्रग्स इंस्पेक्टर ने कफ सिरप और टैबलेट की जांच कर बताया कि मानक से कहीं ज्यादा इसमें नशीली सामग्री है। उसके बैग से इसकफ की 115 शीशी, मैक्सकॉफ की 182 शीशी और एक कंपनी का 120 पत्ता कैप्सूल बरामद हुआ। बताया जा रहा है कि इसे नशे के लिए इस्तेमाल किया जाता है।

संबंधित खबरें