DA Image
22 अक्तूबर, 2020|11:19|IST

अगली स्टोरी

डिजी--भक्त इस बार नहीं कर पाएंगे भोले बाबा का जलाभिषेक

डिजी--भक्त इस बार नहीं कर पाएंगे भोले बाबा का जलाभिषेक

सावन में पहली बार भक्त अपने आराध्य देव भोलेनाथ का शिव मंदिरों के अंदर रुद्राभिषेक, जलाभिषेक व दुग्धाभिषेक नहीं कर सकेंगे। भक्त मंदिर के बाहर से दर्शन-पूजन कर आशीष प्राप्त करेंगे। साथ ही घरों में भगवान शिव को जल चढ़ाकर व व्रत नियमों का पालन कर पुण्य प्राप्त करेंगे। क्योंकि कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए प्रशासन की ओर से दिशानिर्देश जारी किए गए हैं।

मूर्तियों का स्पर्श रहेगा वर्जित

गाइडलाइन के अनुसार भक्त शिव मंदिरों में किसी मूर्ति को स्पर्श नहीं करेंगे। और न ही घंटी बजायेंगे। मंदिर में मूर्तियों को छूने की मनाही है। सावन में हर साल शिव भक्त कांवड़ यात्रा निकालते थे लेकिन इस बार यात्रा भी नहीं निकलेगी। मंदिरों में दिशानिर्देश का पालन किया जाएगा।

हर सोमवार मंदिरों में होती है भीड़

सावन में सोमवार का बहुत महत्व है। इस बार सावन में पांच सोमवार पड़ेंगे। शुरुआत छह जुलाई को सोमवार से होगी और समापन भी सोमवार तीन अगस्त को होगा। इस अवसर पर मनकामेश्वर, सोमेश्वर महादेव, शिवकुटी महादेव, हनुमत निकेतन, नागवासुकि, पड़िला महादेव समेत सभी शिव मंदिरों में बड़ी संख्या में भक्त दर्शन-पूजन के लिए आते हैं।

मंदिरों में शुरू हुई साफ-सफाई

सावन को देखते हुए शिव मंदिरों में साफ-सफाई का कार्य शुरू हो गया है। सरकारी दिशानिर्देश के अनुसार भक्तों के दर्शन-पूजन की तैयारी की जा रही है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Digi - Devotees will not be able to perform Bhole Baba 39 s Jalabhishek this time