DA Image
24 नवंबर, 2020|2:26|IST

अगली स्टोरी

एल्डर कमेटी की अराजकता अधिवक्ताओं की मर्यादा के विपरीत

एल्डर कमेटी की अराजकता अधिवक्ताओं की मर्यादा के विपरीत

जिला अधिवक्ता संघ के अध्यक्ष हरि सागर मिश्र एवं मंत्री राकेश कुमार दुबे ने संयुक्त प्रेस वार्ता में एल्डर कमेटी पर आरोप लगाया कि उनके द्वारा की जा रही अराजकता अधिवक्ताओं की मर्यादा के विपरीत है। संघ के संकल्प और विकास कार्यों में लगातार व्यवधान उत्पन्न कर रहे हैं। इन सबके बावजूद संघ का चुनाव शीघ्र और पारदर्शी रूप से कराए जाने के लिए दृढ़ संकल्प है। आगामी रणनीति बनाने के लिए दो नवंबर को पूर्वाह्न साढ़े ग्यारह बजे जिला अधिवक्ता संघ की आमसभा बुलाई गई है, जिसमें लिए गए निर्णय के अनुसार दोषी जनों के विरुद्ध कठोर कार्रवाई की जाएगी।

हरि सागर मिश्र और राकेश कुमार दुबे ने कहा कि जिला अधिवक्ता संघ के सदस्यों को बीमा की सुविधा प्रदान करने के लिए संघ द्वारा संकल्प प्रस्ताव पारित किया गया है जिसमें सदस्य की मृत्यु होने पर 5 लाख रुपए दिए जाएंगे। गंभीर बीमारी होने पर डेढ़ लाख रुपए दिए जाएंगे। इसके संबंध में एक कमेटी वरिष्ठ अधिवक्ताओं और बीमा के जानकारों की गठित कर दी गई है। यह भी संकल्प प्रस्ताव पारित किया गया है कि नोटरी एडवोकेट की फीस न्यूनतम 300 होगी, इससे जूनियर अधिवक्ताओं को काफी लाभ मिलेगा।

शिक्षक विधायक डॉक्टर यज्ञदत्त शर्मा द्वारा प्रदान की गई विकास निधि से 84 खंबा परिसर में हनुमान मंदिर का जीर्णोद्धार व अन्य विकास कार्यों को अंतिम रूप दिया जा रहा है। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कार्यालय के सामने राजकीय आस्थान की एक बड़े भूखंड को जिला प्रशासन ने जनपद न्यायालय के वाहन स्टैंड हेतु प्रदान कर दिया है। इस स्थान को अधिवक्ताओं के वाहन स्टैंड के रूप में उपयोग किया जाना है परंतु अधिवक्ता हितों के विपरीत काम करने वाले कुछ लोग जिला अधिवक्ता संघ के द्वारा लिए गए संकल्प प्रस्ताव एवं विकास कार्यों में व्यवधान उत्पन्न करना चाहते हैं और अधिवक्ताओं की मर्यादा के विपरीत कार्य कर रहे हैं। नुकसान पहुंचा रहे हैं।

अध्यक्ष और मंत्री ने कहा कि पूर्व कार्यकारिणी द्वारा जो कार्य कराए गए हैं, उसमें भारी अनियमितता है। सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट के नाम पर 4 लाख रुपए से अधिक का खर्च किया है, जबकि स्थानीय लोगों से कोटेशन प्राप्त किए गए हैं। मात्र 25 हजार रुपये या इससे थोड़े अधिक खर्च होना था। इस संबंध में एजी ऑफिस के ऑडिटर से ऑडिट करा कर कठोर कार्रवाई की जाएगी।

दोनों ने यह भी कहा कि जिला अधिवक्ता संघ का चुनाव कराने के लिए वर्तमान कार्यकारिणी पूरी तरह दृढ़ संकल्प है। यथाशीघ्र पारदर्शी चुनाव कराने की प्रतिबद्धता है। परंतु एल्डर कमेटी जो अराजकता फैला रही है, वह मर्यादा के विपरीत है। चुनाव कराने के लिए एल्डर कमेटी की जरूरत नहीं है। बताया कि चुनाव में 10 हजार अधिवक्ता हिस्सा लेते हैं। कोरोना अभी समाप्त हुआ नहीं है। पुलिस बल, जिला प्रशासन के सहयोग की आवश्यकता चुनाव संचालन, मतदान व मतगणना में होती है। जिला मजिस्ट्रेट, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक व मुख्य चिकित्सा अधिकारी को पत्र लिखा गया है। जैसे ही सहयोग दिए जाने का पत्र मिलेगा, चुनाव कराने में कोई देर नहीं होगी।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Contrary to the decorum of the chaos advocates of the Elder Committee