ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेश प्रयागराजबजट मिला, छह साल से बंद आरओबी का काम होगा शुरू

बजट मिला, छह साल से बंद आरओबी का काम होगा शुरू

बेगम बाजार आरओबी निर्माण की बाधा अब दूर हो गई है। शासन ने बुधवार को 97 करोड़ रुपये का बजट जारी कर दिया है। इसमें से वायु सेना को 67 करोड़ रुपये हवाई...

बजट मिला, छह साल से बंद आरओबी का काम होगा शुरू
हिन्दुस्तान टीम,प्रयागराजWed, 19 Jun 2024 08:45 PM
ऐप पर पढ़ें

बेगम बाजार आरओबी निर्माण की बाधा अब दूर हो गई है। शासन ने बुधवार को 97 करोड़ रुपये का बजट जारी कर दिया है। इसमें से वायु सेना को 67 करोड़ रुपये हवाई पट्टिका निर्माण के लिए दिया जाएगा। जबकि शेष 30 करोड़ रुपये जमीन अधिग्रहण के लिए जारी किया गया है।
बेगम बाजार में आरओबी का निर्माण कुम्भ मेला 2019 के पहले शुरू हुआ था। वर्ष 2018 में जब आरओबी 92 फीसदी बनकर तैयार हुआ तो वायु सेना ने हवाई पट्टिका को खतरा बताकर निर्माण रुकवा दिया था। इसके बाद से लगातार इसके निर्माण की बाधा दूर करने के लिए प्रयास चल रहा था। पिछले साल अगस्त में सेना ने सशर्त एनओसी दी थी। इस साल 18 जनवरी को 97 करोड़ रुपये के बजट को शासन की व्यय वित्त समिति ने अनुमति दे दी थी। बुधवार को शासन ने बजट जारी कर दिया। अफसरों का कहना है कि इसे महाकुम्भ से पहले काम पूरा करा लिया जाएगा।

एक दर्जन आवास तोड़े जाएंगे

बेगम बाजार में जहां आरओबी बन रहा है, वहां एक दर्जन मकान गिराए जाने हैं। जबकि एक दर्जन मकान का केवल ऊपरी हिस्सा ही आरओबी के लिए तोड़ने होंगे।

रेलवे को कराना है काम

सेतु निगम के अफसरों की मानें तो अब काम रेलवे के हिस्से का बचा हुआ है। सेतु निगम का हिस्सा पूरा हो चुका है। ऐसे में रेलवे को अब अपने काम को तेज गति से करना होगा।

कम से कम चार महीना लगना तय

किसी भी आरओबी में रेलवे ट्रैक के ऊपर के हिस्से को तैयार करके ढालने में कम से कम 65 दिन का वक्त लगता है। इस आरओबी में यह काम बाकी है। साथ ही इसके आसपास का काम भी एक महीने से अधिक में पूरा होगा। जमीन अधिग्रहण के वक्त को मिला लिया जाए तो निर्माण शुरू होने के बाद कम से कम 120 दिन का समय लगेगा। मानसून सीजन में अगर काम रुका तो इसे महाकुम्भ के पहले पूरा करना चुनौती होगा।

वर्जन

बेगम बाजार आरओबी के लिए शासन ने बजट जारी कर दिया है। जिसके बाद अब निर्माण की बाधा दूर हो गई है। प्रयास है कि जल्द ही काम शुरू करा दें, जिससे महाकुम्भ से पहले आरओबी तैयार हो जाए।

- विजय किरन आनंद, मेलाधिकारी

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।