DA Image
25 नवंबर, 2020|2:45|IST

अगली स्टोरी

ट्रेन आने पर ही जलती प्लेटफॉर्म की सभी लाइटें

ट्रेन आने पर ही जलती प्लेटफॉर्म की सभी लाइटें

ट्रेनों का संचालन कम होने के कारण रेलवे ने तमाम खर्चों में कटौती कर दी है। प्रयागराज जंक्शन पर फिजूल बिजली खर्च रोकने के लिए नई व्यवस्था लागू की गई है। ट्रेनें प्लेटफॉर्म पर आने के पहले सभी लाइटें जलाई जाती हैं। ट्रेन के जाते ही 50 फीसदी लाइटें बंद कर दी जाती हैं।

खाली प्लेटफॉर्मों पर अधिकतम 50 फीसदी लाइटें जलाई जा रही हैं। सुरक्षा के मद्देनजर खाली प्लेटफॉर्मों पर 30 फीसदी लाइटें जलती हैं। प्रयागराज जंक्शन पर तैनात अधिकारियों का कहना है कि अनावश्यक बिजली खर्च पर रोक लगाई गई है। प्रयागराज के बाकी स्टेशनों पर सुरक्षा के लिए रात में लाइटें जलाई जाती हैं। उत्तर मध्य रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी अजीत कुमार सिंह ने बताया कि सीमित ट्रेनों का संचालन हो रहा है तो अनावश्यक बिजली खर्च रोका जा रहा है। रेलवे के एक अन्य अधिकारी ने कहा कि जरूरी काम ही कराए जा रहे हैं। चर्चा है कि खर्चों में कटौती के लिए कई स्टेशनों पर मरम्मत आदि के काम रोके गए हैं। उत्तर रेलवे के लखनऊ मंडल में कई काम रोके गए हैं।

आय बढ़ाने को झोंकी ताकत

प्रयागराज। सामान्य यात्री ट्रेनों के बंद होने से रेलवे की आय पर असर पड़ा है। अब रेलवे कोरोना काल में आय बढ़ाने के लिए माल ढुलाई पर जोर दे रहा है। 2024 तक माल ढुलाई दोगुना के लिए जोन मंडलों में बिजनस डेवलपमेंट यूनिट का गठन किया गया है। प्रयागराज मंडल में सीमेंट, मक्का, दाल आदि की ढुलाई की वृहद योजना तैयार की है। माल ढुलाई बढ़ाने के लिए उत्तर मध्य रेलवे ग्राहकों को बड़ी रियायत और अन्य सुविधाएं दे रहा है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:All the lights of the burning platform only when the train arrives