DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  प्रयागराज  ›  एडेड कॉलेजों को जल्द मिलेंगे डेढ़ हजार शिक्षक
प्रयागराज

एडेड कॉलेजों को जल्द मिलेंगे डेढ़ हजार शिक्षक

हिन्दुस्तान टीम,प्रयागराजPublished By: Newswrap
Thu, 17 Jun 2021 04:10 PM
एडेड कॉलेजों को जल्द मिलेंगे डेढ़ हजार शिक्षक

प्रयागराज वरिष्ठ संवाददाता

प्रदेश के अशासकीय सहायता प्राप्त माध्यमिक विद्यालयों को जुलाई अंत तक डेढ़ हजार और शिक्षक मिल जाएंगे। उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड प्रशिक्षित स्नातक (टीजीटी) 2016 सामाजिक विज्ञान विषय के 1099 पदों के सापेक्ष 3662 अभ्यर्थियों में से 2800 का साक्षात्कार ले चुका है।

बचे हुए 862 अभ्यर्थियों का साक्षात्कार कोरोना के कारण स्थगित करना पड़ा था। लेकिन अब स्थितियां सामान्य होने लगी हैं और जुलाई पहले सप्ताह में बचे हुए 862 अभ्यर्थियों का इंटरव्यू भी पूरा हो जाने की उम्मीद है। उसके बाद अंतिम चयन परिणाम घोषित कर दिया जाएगा। इसके अलावा टीजीटी कला के 391, पीजीटी कला के 33, नागरिक शास्त्र बालिका वर्ग के 13 कुल 437 पदों के साक्षात्कार हो चुके हैं और अंतिम परिणाम बहुत जल्द जारी होने वाला है।

भर्ती में भ्रष्टाचार का खेल, नहीं हुई डीआईओएस पर कार्रवाई

सहायता प्राप्त माध्यमिक विद्यालयों में शिक्षकों की भर्ती में भ्रष्टाचार का खेल करने वाले जिला विद्यालय निरीक्षकों पर कार्रवाई नहीं हो रही। सचिव उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड कीर्ति गौतम ने 24 नवंबर 2020 को शासन को पत्र लिखकर विभिन्न जिलों के डीआईओएस की मनमानी की शिकायत की थी। खाली पदों की सूचना भेजने के बावजूद डीआईओएस जनशक्ति में पद कम होने, पदोन्नति, स्थानान्तरण, मृतक आश्रित की नियुक्ति, संस्था के अल्पसंख्यक होने, विषय की वित्तविहीन मान्यता होने, तदर्थ शिक्षक तैनात होने, बालक के स्थान पर बालिका वर्ग होने आदि कारणों से चयनित शिक्षकों का कार्यभार ग्रहण नहीं कराते। जिसके कारण चयनित शिक्षकों के समायोजन की समस्या पैदा हो जाती है। हाईकोर्ट की वृहद पीठ के आदेश के बावजूद डीआईओएस अधियाचन भेजने के बाद पद भर ले रहे हैं। इसका नतीजा है कि टीजीटी पीजीटी 2016 के ही 200 से अधिक शिक्षक समायोजन के लिए ठोकरें खा रहे हैं।

टीजीटी पीजीटी की नई भर्ती में कम हो गए पद

डीआईओएस के खेल में ही टीजीटी-पीजीटी 2021 में शिक्षकों के पद कम हो गए। चयन बोर्ड ने पिछले साल शासन को प्रशिक्षित स्नातक के 12949 और प्रवक्ता के 2609 पदों पर नियुक्ति का प्रस्ताव भेजा था। लेकिन 29 अक्टूबर को पहली बार विज्ञापन जारी हुआ तो पद घटकर 15508 रह गए। उसके बाद 15 मार्च को संशोधित विज्ञापन जारी हुआ तो पदों की संख्या घटकर 15198 रह गई। इस दौरान डीआईओएस से मिली रिपोर्ट के आधार पर चयन बोर्ड को पद कम करने पड़े।

संबंधित खबरें