DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  प्रयागराज  ›  लोकतंत्र के चारों स्तम्भों में समन्वय बनाता है अधिवक्ता : जस्टिस शमशेरी

प्रयागराजलोकतंत्र के चारों स्तम्भों में समन्वय बनाता है अधिवक्ता : जस्टिस शमशेरी

हिन्दुस्तान टीम,प्रयागराजPublished By: Newswrap
Sat, 12 Jun 2021 04:20 AM
लोकतंत्र के चारों स्तम्भों में समन्वय बनाता है अधिवक्ता : जस्टिस शमशेरी

इलाहाबाद हाईकोर्ट के न्यायमूर्ति सौरभ श्याम शमशेरी का कहना है कि अधिवक्ता ऐसा समहू व शक्ति है जो लोकतंत्र के चारों स्तम्भों में समन्वय बनाता है ताकि समाज व न्याय के बीच दूरी कम हो।

अधिवक्ता परिषद उत्तर प्रदेश-उत्तराखंड की ओर से अधिवक्ता-लोकतंत्र का केन्द्रीय स्तम्भ विषयक वर्चुअल गोष्ठी को बतौर मुख्य वक्ता संबोधित करते हुए न्यायमूर्ति एसएस शमशेरी ने कहा कि अधिवक्ता न्यायालय का अफसर है और उसका मूल कार्य न्याय का निष्पादन है, न कि किसी पक्षकार को मुकदमे में विजय दिलाना। उन्होंने कहा कि अधिवक्ता अपने कार्य को पूर्ण तैयारी, कुशलता, सहजता व सरलता से न्यायालय के समक्ष रखता है जिससे उसके मुवक्किल का विश्वास उस पर बना रहे। अधिवक्ता अपने तर्क से ही विधिसम्मत न्याय दिलाने में सक्षम है। न्यायालय को प्रामाणिक और सद्भावनापूर्ण दाखिल जनहित याचिका को प्रोत्साहित करना चाहिए और यही कार्य अधिवक्ता समाज का भी है। अधिवक्ता परिषद के कार्यकर्ताओं का काम न्याय: मम धर्मः पर चलकर समाज की अंतिम पंक्ति में खड़े व्यक्ति को न्याय दिलाने का है।

न्यायमूर्ति शमशेरी ने कहा कि जब विधायिका कोई कानून बनाती है तो अधिवक्ता को उस पर शोध व चिंतन कर अवगत कराना चाहिए। अधिवक्ताओं को न्यायिक कार्य से विरत नहीं रहना चाहिए। उनकी हड़ताल उनके मुवक्किल का नुकसान करती है। अच्छा अधिवक्ता अपने वाद के सशक्त और कमजोर पहलुओं का विशेष ध्यान रखता है। अधिवक्ता समाज का एक ऐसा व्यक्तित्व है जो समाज के पीड़ित व्यक्तियों को अपनी आवाज देकर न्याय दिलाता है।

कार्यक्रम के अंत में क्षेत्र मंत्री चरण सिंह त्यागी ने धन्यवाद ज्ञापित किया। कार्यक्रम का संचालन अमरोहा के सर्वेश कुमार शर्मा ने किया। वर्चुअल गोष्ठी में अधिवक्ता परिषद के कार्यकारी अध्यक्ष नरोत्तम गर्ग, विजय प्रकाश मिश्र, अर्चना त्यागी, रमेश पुंडीर, अतुल शाही, झम्मन सिंह वर्मा, सुधांशु अग्रवाल, कमल सिंह, राखी शर्मा, आनंद सिंह जंघाला, सुदेश त्यागी, शुचि शर्मा, जानकी सूर्या, भाष्कर जोशी, सुयश पंत, अनुज शर्मा, प्रमोद त्यागी, पराग गर्ग आदि अधिवक्ताओं ने प्रतिभाग किया।

संबंधित खबरें