DA Image
24 सितम्बर, 2020|11:21|IST

अगली स्टोरी

दूसरे ज़िलों में बुलाए जा रहे प्रयागराज के आरती साधक

default image

प्रयागराज मेला प्राधिकरण आरती समिति की पूछ अब केवल प्रयागराज नहीं बल्कि प्रदेश के दूसरे जिलों में हो रही है। कुम्भ जैसे दिव्य और भव्य आयोजन में राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री सहित तमाम माननीयों को आरती कराने वाले यहां के साधकों को अब प्रदेश के दूसरे जिलों में आंमत्रित किया जा रहा है। इसके पूर्व सामान्यतौर पर वाराणसी से साधकों को दूसरे जिलों में बुलाने की परंपरा रही है लेकिन अब प्रयागराज के साधक भी वाराणसी जाकर आरती कर रहे हैं।

प्रयागराज मेला प्राधिकरण आरती समिति ने कुम्भ मेले भर दिव्य और भव्य आयोजन कराए। जय त्रिवेणी जय प्रयाग नाम से गठित संस्था कुम्भ के बाद भी नित प्रति संगम तट पर आरती और पूजन का आयोजन करती है। कुम्भ 2019 में तो राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, उप राष्ट्रपति वेंकैयानायडू, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, उत्तर प्रदेश के तत्कालीन राज्यपाल रामनाइक, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ व उनकी पूरी मंत्रिमंडल को इसी टीम ने यहां पर गंगा आरती कराई। इसके साथ ही देश और दुनिया से आने वाले तमाम लोगों को आरती कराने का मौका इसी टीम को मिला। इसके बाद यहां आरती समिति के आचार्य प्रदीप पांडेय, दीपू मिश्र की टीम को धीरे-धीरे बाहर से भी न्योता मिलने लगा। अब तक यह टीम वाराणसी, गोरखपुर, कानपुर, गाजीपुर सहित मध्य प्रदेश के दातिया में आरती कराने जा चुकी है। आरती समित के आचार्य प्रदीप पांडेय कहते हैं कि यह हमारे लिए गौरव की बात है। अब तक वाराणसी से ही साधक बुलाए जाते थे। प्रयागराज धर्म और आध्यात्म की नगरी है। यहां की प्रतिभा को मंच मिलना हमारे लिए गौरव का विषय है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Aarti seekers of Prayagraj being called in other districts