DA Image
7 अगस्त, 2020|5:54|IST

अगली स्टोरी

अतीक की हनक में बदल गया था असलहा लाइसेंस का एक नंबर

अतीक की हनक में बदल गया था असलहा लाइसेंस का एक नंबर

अतीक अहमद की हनक इतनी थी कि जब असलहा लाइसेंस निरस्त करने की बात आई तो लाइसेंस का एक नंबर ही रिकॉर्ड में बदल दिया गया। उसके चक्कर में पुलिस और प्रशासन के अधिकारी कई सालों तक घनचक्कर बने रहे। आखिरकार इसका खुलासा होने के बाद दो असलहों का लाइसेंस 2017 में ही निरस्त कर दिया गया था लेकिन हथियारों की बरामदगी मंगलवार को हो सकी। जांच में पता चला है कि पूर्व सांसद अतीक के नाम से डीबीबीएल गन का भी लाइसेंस जारी हुआ था, जिसकी अब पुलिस तलाश कर रही है।

अतीक अहमद ने लाखों रुपए सिर्फ असलहों का लाइसेंस बनवाने में ही पानी की तरह बहा दिए। उसने पिस्टल, राइफल और डीबीबीएल समेत अन्य सात असलहों का लाइसेंस बनवाया था। अतीक के नाम से ही एक पिस्टल, दूसरा राइफल और तीसरा डीबीबीएल के नाम से लाइसेंस जारी हुआ था। इसके अलावा तीन असलहे अतीक ने अपनी पत्नी शाइस्ता परवीन के नाम से बनवाए थे। सातवां असलहा अतीक ने अपने छोटे भाई अशरफ के नाम से लिया था। इस तरह से एक ही परिवार में 7 असलहों का लाइसेंस जारी किया गया था। वहीं अतीक ने अपने साढू इमरान के नाम से भी तीन असलहों का लाइसेंस बनवाया था।

2007 में बसपा शासन में अतीक के असलहों का लाइसेंस निरस्त करने में पुलिस नाकाम रही थी। 2016 में हाईकोर्ट के संज्ञान लेने के बाद अतीक के खिलाफ कार्रवाई शुरू हुई थी। इस दौरान लाइसेंस नंबर में एक अंक का हेरफेर का पता चला। खुलासा होने के बाद 2017 में पुलिस ने अतीक के एक लाइसेंस को छोड़कर अन्य सभी लाइसेंस को निरस्त कराया था।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:A number of license was changed to Atiq 39 s wish