ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेश प्रयागराजयूजीसी नेट निरस्त होने से निराश 20,543 अभ्यर्थी

यूजीसी नेट निरस्त होने से निराश 20,543 अभ्यर्थी

अभी नीट यूजी को लेकर विवाद कम होने का नाम नहीं ले रहा था कि मंगलवार को आयोजित यूजीसी नेट भी निरस्त कर दी गई। नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) ने ही...

यूजीसी नेट निरस्त होने से निराश 20,543 अभ्यर्थी
default image
हिन्दुस्तान टीम,प्रयागराजWed, 19 Jun 2024 11:00 PM
ऐप पर पढ़ें

अभी नीट यूजी को लेकर विवाद कम होने का नाम नहीं ले रहा था कि मंगलवार को आयोजित यूजीसी नेट भी निरस्त कर दी गई। नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) ने ही यूजीसी नेट कराया था। इस निर्णय से प्रयागराज में परीक्षा में पंजीकृत 20,543 अभ्यर्थियों को निराशा हाथ लगी है। महीनों तैयारी के बाद परीक्षा देने वाले अभ्यर्थी अपने सही उत्तरों का मिलान ही कर रहे थे कि बुधवार को परीक्षा निरस्त होने के समाचार ने उनके सपनों पर पानी फेर दिया।
कई अभ्यर्थी ऐसे हैं जो पूर्व में नेट कर चुके हैं और जेआरएफ के लिए परीक्षा दी थी। उच्च शिक्षा में करियर तलाश रहे हजारों युवा खुद को ठगा हुआ महसूस कर रहे हैं। अभ्यर्थियों का कहना है कि एनटीए पारदर्शी परीक्षाएं करवाने में पूरी तरह नाकाम रहा है क्योंकि एनटीए खुद अपनेआप में कोई संस्था नहीं है बल्कि ढेर सारी प्राइवेट आईटी कंपनियों का समूह है। यह संस्था प्राइवेट कंपनियों की मुनाफाखोरी और नकल माफिया के धन उगाही के मॉडल पर चल रही है।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।