ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेश प्रतापगढ़ - कुंडाविपत्ति में हमेशा नारीशक्ति ने की देश की रक्षा : राज्यपाल

विपत्ति में हमेशा नारीशक्ति ने की देश की रक्षा : राज्यपाल

सिक्किम के राज्यपाल लक्ष्मण आचार्य ने कहा कि जहां महिलाओं का सम्मान नहीं वह समाज विकास नहीं कर सकता। भारत में महिलाओं की मातृशक्ति के रूप में पूजा...

सिक्किम के राज्यपाल लक्ष्मण आचार्य ने कहा कि जहां महिलाओं का सम्मान नहीं वह समाज विकास नहीं कर सकता। भारत में महिलाओं की मातृशक्ति के रूप में पूजा...
1/ 2सिक्किम के राज्यपाल लक्ष्मण आचार्य ने कहा कि जहां महिलाओं का सम्मान नहीं वह समाज विकास नहीं कर सकता। भारत में महिलाओं की मातृशक्ति के रूप में पूजा...
सिक्किम के राज्यपाल लक्ष्मण आचार्य ने कहा कि जहां महिलाओं का सम्मान नहीं वह समाज विकास नहीं कर सकता। भारत में महिलाओं की मातृशक्ति के रूप में पूजा...
2/ 2सिक्किम के राज्यपाल लक्ष्मण आचार्य ने कहा कि जहां महिलाओं का सम्मान नहीं वह समाज विकास नहीं कर सकता। भारत में महिलाओं की मातृशक्ति के रूप में पूजा...
हिन्दुस्तान टीम,प्रतापगढ़ - कुंडाThu, 29 Feb 2024 11:00 PM
ऐप पर पढ़ें

अंतू/ लक्ष्मणपुर, हिन्दुस्तान संवाद। सिक्किम के राज्यपाल लक्ष्मण आचार्य ने कहा कि जहां महिलाओं का सम्मान नहीं वह समाज विकास नहीं कर सकता। भारत में महिलाओं की मातृशक्ति के रूप में पूजा होती है। विपत्ति में हमेशा नारी शक्ति ने देश की रक्षा की है। वह गुरुवार को संडवाचंद्रिका विकासखंड के तेजगढ़ गांव में आयोजित दुरदुरैया कार्यक्रम में मौजूद लोगों को संबोधित कर रहे थे।
उन्होंने कहा कि बेटी पढ़ाओ, बेटी बचाव अभियान से भारत की बेटियां पूरी दुनिया में नाम कमा रही हैं। कहा कि प्रतापगढ़ प्रतापी लोगों को जन्म देने और गढ़ने वाला है। आज भारतीय संस्कृति का परचम अयोध्या से आबूधाबी तक लहरा रहा है। इससे पूर्व कार्यक्रम में पहुंचे राज्यपाल को पुलिसकर्मियों ने गार्ड ऑफ ऑनर दिया। कार्यक्रम की आयोजक प्रतिभा सिंह ने 51 किलो की माला पहनाकर और स्मृति चिह्न देकर राज्यपाल का स्वागत किया। राज्यपाल ने चार महिलाओं को स्मृति चिह्न देकर सम्मानित किया। दुरदुरैया कार्यक्रम में शामिल महिलाओं को भी शॉल देकर सम्मानित किया गया।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें