DA Image
1 नवंबर, 2020|10:40|IST

अगली स्टोरी

गड़े सोने की तलाश में पहुंचे थे बदमाश

गड़े सोने की तलाश में पहुंचे थे बदमाश

1 / 5घरवालों को बंधक बनाकर लूटपाट करने वाले बदमाश गड़ा सोने की तलाश में आए थे। सोना नहीं मिलने पर घर में लूटपाट की। सभी बदमाश हाथों में दस्ताना और मुंह में मास्क लगाए थे। पुलिस आधा दर्जन से अधिक लोगों को...

गड़े सोने की तलाश में पहुंचे थे बदमाश

2 / 5घरवालों को बंधक बनाकर लूटपाट करने वाले बदमाश गड़ा सोने की तलाश में आए थे। सोना नहीं मिलने पर घर में लूटपाट की। सभी बदमाश हाथों में दस्ताना और मुंह में मास्क लगाए थे। पुलिस आधा दर्जन से अधिक लोगों को...

गड़े सोने की तलाश में पहुंचे थे बदमाश

3 / 5घरवालों को बंधक बनाकर लूटपाट करने वाले बदमाश गड़ा सोने की तलाश में आए थे। सोना नहीं मिलने पर घर में लूटपाट की। सभी बदमाश हाथों में दस्ताना और मुंह में मास्क लगाए थे। पुलिस आधा दर्जन से अधिक लोगों को...

गड़े सोने की तलाश में पहुंचे थे बदमाश

4 / 5घरवालों को बंधक बनाकर लूटपाट करने वाले बदमाश गड़ा सोने की तलाश में आए थे। सोना नहीं मिलने पर घर में लूटपाट की। सभी बदमाश हाथों में दस्ताना और मुंह में मास्क लगाए थे। पुलिस आधा दर्जन से अधिक लोगों को...

गड़े सोने की तलाश में पहुंचे थे बदमाश

5 / 5घरवालों को बंधक बनाकर लूटपाट करने वाले बदमाश गड़ा सोने की तलाश में आए थे। सोना नहीं मिलने पर घर में लूटपाट की। सभी बदमाश हाथों में दस्ताना और मुंह में मास्क लगाए थे। पुलिस आधा दर्जन से अधिक लोगों को...

PreviousNext

घरवालों को बंधक बनाकर लूटपाट करने वाले बदमाश गड़ा सोने की तलाश में आए थे। सोना नहीं मिलने पर घर में लूटपाट की। सभी बदमाश हाथों में दस्ताना और मुंह में मास्क लगाए थे। पुलिस आधा दर्जन से अधिक लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है।

मानिकपुर थाना क्षेत्र के शाहाबाद उत्तरी में शनिवार रात करीब साढ़े आठ बजे सुनील मौर्या के घर की महिलाएं दरवाजे पर धान पीट रही थी। सुनील व उसका भाई अजय घर के भीतर खाना खाने गए थे। इसी बीच एक दर्जन बदमाश हाथ में गहदाला, चाकू व तमंचा लहराते हुए पहुंचे और सुनील की मां मुन्नी देवी व पत्नी आशा देवी को तमंचा सटाकर धकियाए हुए भीतर ले जाने लगे। पूछा कि सोना कहां है बताओ ? महिलाओं के ना नुकर करने पर बदमाशों ने आशा को चाकू मारा जो उसके हाथ में लगा और मुन्नी देवी को भी पीटा। चीख सुनकर सुनील और अजय निकले तो बदमाश उनसे भिड़ गए। सभी को तमंचा सटा धकेलते हुए भीतर ले गए और सोना की तलाश करने लगे।

कुछ बदमाश सुनील को पीटकर सोना पूछने लगे तो कुछ ने अजय को सीढ़ी की रेलिंग के सहारे रस्सी से बांध दिया। सोना नहीं बताने पर बदमाश ने सुनील के चेहरे पर चाकू से मारा और सिर पर तमंचे की मुठिया से हमलाकर लहूलुहान कर दिया। अजय किसी तरह दांतों से रस्सी काट छूट पाया तो एक बदमाश को दबोच लिया। उसे कमरे के अंदर खीचकर दरवाजा बंद कर भिड़ गया। उसके हाथ में रही लोडेड पिस्टल छीन ली, तब तक शोर सुनकर गांव के लोग दौड़े तो बदमाश फायरिंग करते भाग निकले। इस बीच बदमाशों ने दोनों महिलाओं के पहने हुए सभी जेवरात छीन लिए। घर में रखे 50 हजार रुपये नकद, मोबाइल फोन, सीपीओ और मंदिर बनवाने के लिए रखी दान पेटिका उठा ले गए।

ग्रामीण पहुंचे तो पकडे़ गए बदमाश की धुनाई कर दी तब तक पुलिस पहुंची। पकड़े गए बदमाश और बरामद पिस्टल को कब्जे में लिया। पकड़ा गया बदमाश बाबूगंज बाजार कुंडा का बताया जा रहा है। इलाज के बाद उसने सभी साथियों के नाम बताए। कुंडा, मानिकपुर समेत कई थानों की पुलिस रातभर बदमाशों की तलाश में दबिश देती रही। आधा दर्जन से अधिक लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ चल रही है। घटना में प्रयुक्त वाहन भी पुलिस ने बरामद किए हैं। एसओ सुभाष यादव का कहना है कि बदमाश गड़े हुए सोने की तलाश में आए थे। एक पिस्टल बरामद हुई है। पकड़े गए आरोपित से बयान लेकर पूरे मामले के खुलासे का प्रयास किया जा रहा है। घायल सुनील की पत्नी आशा देवी की तहरीर पर अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:The crooks arrived in search of gold