DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › प्रतापगढ़ - कुंडा › बिना परीक्षा पास होने की मेधावियों में टीस
प्रतापगढ़ - कुंडा

बिना परीक्षा पास होने की मेधावियों में टीस

हिन्दुस्तान टीम,प्रतापगढ़ - कुंडाPublished By: Newswrap
Sat, 31 Jul 2021 11:42 PM
बिना परीक्षा पास होने की मेधावियों में टीस

प्रतापगढ़। बिना परीक्षा के ही बेहतर रिजल्ट मिलने से अधिकतर बच्चों के चेहरे पर खुशी है। इन सबके बीच मेधावी बच्चों की रिजल्ट को लेकर अलग राय हैं। परीक्षा न होने की उनमें कहीं न कहीं टीस है। उनका कहना है कि अगर परीक्षा हुई होती तो उनका परिणाम और भी बेहतर होता। अभिभावकों के चेहरे भी बच्चों की सफलता की खुशी दिख रही थी। हालांकि बिना परीक्षा पास हुए बच्चे आगे की पढ़ाई में अधिक मेहनत करने का दावा कर रहे हैं।

शनिवार की शाम बोर्ड परीक्षा हाईस्कूल व इंटर का परिणाम आने के बाद बच्चों की बेचैनी बढ़ी। रिजल्ट जानने के लिए सभी परेशान रहे। मोबाइल व साइबर कैफे के सहारे रिजल्ट की जानकारी हुई। कई स्कूलों में बच्चों की टोली पहुंची और यहां सभी को उनके रिजल्ट के बारे में बताया गया। बोर्ड परीक्षा का परिणाम जानने के बाद बच्चों के भाव अलग-अलग दिखे।

साकेत गर्ल्स इंटर कालेज की हाईस्कूल की छात्रा भावी पुरी कहती हैं कि वे परीक्षा परिणाम से संतुष्ट हैं। कोरोना काल में इसके अलावा कोई विकल्प भी नहीं था। आगे की पढ़ाई में वे अधिक मेहनत करेंगी। इंटर की छात्रा बबली विश्वकर्मा का कहना है कि रिजल्ट गिफ्ट है। पास तो सभी कर दिए गए लेकिन पढ़ाई छूटती जा रही है।। तुलसी इंटर कॉलेज जमेठी में हाईस्कूल की छात्रा शिवानी सोनकर का कहना है कि वे रिजल्ट से संतुष्ट नहीं है। परीक्षा देती तो और बेहतर अंक आते। हनुमत इंटर कालेज कालाकांकर में इंटर के छात्र प्रवीण कुमार कश्यप का कहना है कि बिना परीक्षा पास किया जाना किसी भी दशा में ठीक नहीं। रामराज इंटर कॉलेज पट्टी में इंटर की छात्रा महिमा शुक्ला कहती हैं कि रिजल्ट बेहतर है लेकिन आगे कठिन परिश्रम करना होगा। वीणापाणि शिक्षामंदिर मुजाही में हाईस्कूल की छात्रा आकांक्षा श्रीवास्तव व छात्र निखिल पटेल कहते हैं कि परीक्षा कराने पर जो परिणाम आता वही सार्थक था। रानीगंज के शिवकुमारी दुबे इंटर कालेज नौडेरा में हाईस्कूल की छात्रा अमितेश यादव का कहना है कि रिजल्ट बहुत ही अच्छा है। देवकी विद्या मंदिर फतेहपुर रानीगंज में इंटर की छात्रा अस्मिता पांडेय कहती हैं कि बिना परीक्षा पास होने का कोई मतलब नहीं है। इस खामी को दूर करने के लिए आगे अधिक मेहनत करने की जरूरत है। लालगंज के लीलावती इंटर कॉलेज जूही की इंटर की छात्रा अदिति वैश्य कहती हैं कि रिजल्ट तो ठीक है लेकिन भविष्य इसके आधार पर नहीं बना सकते। सर्वोदय इंटर कॉलेज सांगीपुर में हाईस्कूल के छात्र शुभम सिंह का कहना है कि रिजल्ट से वे संतुष्ट हैं लेकिन आगे की पढ़ाई के लिए संघर्ष करना होगा।

संबंधित खबरें