Swami Karpathri was a supporter of Sanatan Dharma - सनातन धर्म के समर्थक थे स्वामी करपात्री DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सनातन धर्म के समर्थक थे स्वामी करपात्री

सनातन धर्म के समर्थक थे स्वामी करपात्री

धर्म सम्राट स्वामी करपात्री सनातन धर्म की रक्षा के लिए सर्दव प्रयत्नशील रहे। उन्होंने गीता, गंगा, गायत्री, गाय व वेदों की रक्षा के लिए आजीवन संघर्ष किया। यह बातें सोमवार को स्वामी करपात्री की पुण्यतिथि पर आयोजित कार्यक्रम में ओमप्रकाश पांडेय ने कही।

स्वामी करपात्री की पुण्यतिथि सोमवार को कचहरी परिसर में स्थित वकील परिषद के कार्यालय में मनाई गई। इसकी शुरुआत उनके चित्र पर पुष्प अर्पित व दीप प्रज्ज्वलित कर की गई। वक्ताओं ने कहा कि उन्होंने गोवध रक्षा आंदोलन के दौरान जेल में लम्बी समय बिताया। वह सनारतन धर्म की क्रांति के अग्रदूत थे। अध्यक्षता रामप्रसाद त्रिपाठी ने किया। इस दौरान स्वामीनाथ शुक्ल, देवेन्द्र ओझा, भानुप्रताप त्रिपाठी मराल, देवानंद त्रिपाठी, राजेश्वर, सूर्यकांत मिश्र, देवीप्रसाद आदि मौजूद रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Swami Karpathri was a supporter of Sanatan Dharma