DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › प्रतापगढ़ - कुंडा › शहीद का शव घर पहुंचने के इंतजार में लोग
प्रतापगढ़ - कुंडा

शहीद का शव घर पहुंचने के इंतजार में लोग

हिन्दुस्तान टीम,प्रतापगढ़ - कुंडाPublished By: Newswrap
Sat, 31 Jul 2021 11:32 PM
शहीद का शव घर पहुंचने के इंतजार में लोग

अंतू। हिमाचल प्रदेश के मनाली में शहीद हुए अंतू के लाल के शव इलाकाई लोग पूरे दिन इंतजार करते रहे। हालांकि शनिवार रात तक शव पैतृक गांव नहीं पहुंच सका। रात में शव प्रयागराज आने के बाद बटालियन के लोग रविवार सुबह उसे लेकर पैतृक गांव पहुंचेंगे। रविवार को ही अंतिम संस्कार होगा। शनिवार को शोक जताने वालों का शहीद के घर तांता लगा रहा। जनप्रतिनिधियों ने भी शोक संवेदना जताई।

अंतू इलाके के पूरे भैया निवासी मूल चंद्र पाल के बेटे रितेश पाल (32) सेना में 268 इंजीनियरिंग रेजीमेंट में तैनात थे। वह स्पेशल टास्क फोर्स में नायक थे। उनकी तैनाती मनाली में थी। गुरुवार को सड़क पर जमी बर्फ साफ करते हुए रितेश पर बर्फ का पहाड़ गिर गया और वह गहरी खाई में गिरकर शहीद हो गए थे। शुक्रवार को उनके शहीद होने की सूचना आने के बाद शनिवार को सब आने की उम्मीद में इलाके के लोग उमड़ पड़े। लोग सारा दिन अपने लाल के शव का इंतजार करते रहे। सफाईकर्मी शहीद के घर जाने वाला रास्ता साफ करने में जुट गए। अंत्येष्टि स्थल चिह्नित कर वहां जाने वाले रास्ते को जेसीबी से समतल कराया गया। पूर्व विधायक बृजेश मिश्र सौरभ शहीद के घर पहुंचे और राजकीय मेडिकल कॉलेज को उनके नाम पर करने की मांग की।

एसडीएम सदर मोहनलाल गुप्ता, बीडीओ डॉ. आकांक्षा सिंह ने शहीद के घर पहुंचकर अंत्येष्टि स्थल का निरीक्षण किया। सदर विधायक राजकुमार पाल भी शहीद के घर पहुंचे और परिजनों को ढांढस बंधाया। उन्होंने शहीद के नाम पर गेट और समाधि स्थल बनवाने का आश्वासन दिया।

मुख्यमंत्री ने जताया शोक, एक सड़क होगी उनके नाम

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रीतेश कुमार पाल के शहीद होने पर उन्हें श्रद्धांजलि दी है। मुख्यमंत्री ने शहीद के परिजनों के प्रति शोक संवेदना प्रकट की और शहीद के स्वजन को 50 लाख रुपये की आर्थिक सहायता प्रदान करने की घोषणा की। शहीद के परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी देने और जिले की एक सड़क का नामकरण शहीद रीतेश कुमार पाल के नाम पर करने की भी घोषणा की है।

संबंधित खबरें