अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

प्रतापगढ़ : सगे भाई सालों से चल रहे थे नकली दवा का कारोबार, एक पकड़ा गया

प्रतापगढ़ : सगे भाई सालों से चल रहे थे नकली दवा का कारोबार, एक पकड़ा गया

महेशगंज के राय असकरनपुर में सोमवार को पकड़ी गई नकली दवा का कारोबार करीब दस साल से चल रहा था। दो सगे भाइयों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर पुलिस ने एक को गिरफ्तार कर लिया। उसे जेल भेजकर दूसरे आरोपित की गिरफ्तारी के लिए पुलिस दबिश दे रही है।

राय असकरनपुर में सोमवार को महेशगंज एसओ डीडी सिंह ने लक्ष्मीकांत मिश्रा उर्फ डब्लू के घर दबिश देकर भूरे व काले रंग के पाउडर जैसे दिखने वाली 1 कुंतल 96 किलो 610 ग्राम नकदी आयुर्वेदिक दवा बरामद की। लक्ष्मीकांत को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था लेकिन उसका भाई रमाकांत मिश्रा उर्फ बबलू फरार हो गया। पुलिस ने दोनों भाइयों के खिलाफ बिना लाइसेंस के अपमिश्रित औषधि तैयार करने के आरोप में मुकदमा दर्ज कर लक्ष्मीकांत को जेल भेज दिया। पुलिस ने गांव में छानबीन की तो पता चला कि यह काला कारोबार इस गांव में करीब दस साल से चल रहा है। इस धंधे में जुड़े गई लोग जो पहले साइकिल से चलते थे अब लक्जरी गाड़ियों से चलने लगे हैं।

इनका कहना है

आरोपित ने अखिल भारतीय आयुर्वेदिक सेवा संघ के नाम से जारी एक प्रमाण पत्र दिखाया है, उसकी जांच की जा रही है।

-डीडी सिंह, एसओ महेशगंज

...........................................

अपंग कर सकती हैं ऐसी दवाएं

बाबागंज। वरिष्ठ फिजीशियन डॉ.एमके पांडे का कहना है कि नशीली व दर्द निवारक दवाओं का मिश्रण शरीर के लिए घातक है। इससे रोग प्रतिरोधक क्षमता घट जाती है। किडनी पर बुरा असर पड़ता है। यह मिश्रण इतना घातक होता है कि मरीज को लकवा तक मार सकता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Fake drugs