DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  प्रतापगढ़ - कुंडा  ›  बीडीसी सदस्यों को अपने पाले में लाने को जोर आजमाइश तेज

प्रतापगढ़ - कुंडाबीडीसी सदस्यों को अपने पाले में लाने को जोर आजमाइश तेज

हिन्दुस्तान टीम,प्रतापगढ़ - कुंडाPublished By: Newswrap
Tue, 01 Jun 2021 04:40 AM
बीडीसी सदस्यों को अपने पाले में लाने को जोर आजमाइश तेज

जिले में ब्लॉक प्रमुख की कुर्सी कब्जा करने के लिए दावेदारों की कवायद तेज हो गई है। सत्ता दल के साथ ही विपक्ष के दावेदार सदस्यों को अपने साथ लाने की हर कोशिश कर रहे हैं। सांसद, विधायक के साथ ही सभी दलों के नेता जिले भर में बीडीसी सदस्यों को एकजुट करने का प्रयास कर रहे हैं।

पंचायत चुनाव के दौरान यूं तो राजनीतिक दलों का बीडीसी सदस्य के चुनाव से कोई सरोकार नहीं था लेकिन अब उन्हें अपने पाले में लाने के लिए सभी दल सक्रिय हो गए हैं। प्रमुख की कुर्सी पर बैठने के लिए ब्लॉक के कई प्रभावशाली मैदान में खुलकर आ गए हैं। सत्ता दल से जुड़े दावेदार बीडीसी सदस्यों से संपर्क साधने के साथ ही बड़े नेताओं की परिक्रमा भी कर रहे हैं, ताकि पार्टी की ओर से उन्हें अधिकृत प्रत्याशी घोषित कर दिया जाए। कई जगह निवर्तमान ब्लॉक प्रमुख के विरोधी इस बार खुद कुर्सी कब्जा करने के लिए हथकंडे अपनाने लगे हैं। सत्ता दल से जुड़े कई दावेदार तो बैठकें बुलाकर बड़े नेताओं को अपने साथ बीडीसी सदस्यों का समूह दिखाने का प्रयास कर रहे हैं। सूत्रों के अनुसार बीडीसी सदस्यों से वोट देने के लिए मोलभाव किया जा रहा है। कुछ सदस्यों को दो-दो इंडिया मार्का हैंडपंप पहुंचा दिया गया है। सूत्र की मानें तो इस बार बीडीसी सदस्यों को वोट देने के लिए 50 हजार से 1 लाख रुपये की पेशकश की जा रही है। कुछ बीडीसी सदस्य तो ऐसे हैं कि वह दो-दो दावेदारों से लाभ ले रहे हैं। ब्लॉक प्रमुख के चुनाव के बाद ऐसे सदस्यों के सामने मुश्किल आ सकती है।

बाइक का भी मिल रहा तोहफा

प्रतापगढ़। बीडीसी सदस्यों को ब्लॉक के चुनाव में वोट देने के लिए महंगी बाइक का भी तोहफा मिल रहा है। चर्चा के अनुसार कई दावेदार सदस्यों को बाइक खरीदने भी लगे हैं। तोहफे में पल्सर और अपाचे बाइक का सौदा हो रहा है और इनकी खरीदारी भी शुरू हो गई है। मांग अधिक होने के कारण शहर स्थित टीवीएस के शोरूम में अपाचे बाइक की उपलब्धता ही नहीं है। जबकि शादी विवाह का लग्न खत्म होने के बाद भी पल्सर बाइक की बिक्री जोरों पर है। टीवीएस एजेंसी के मैनेजर वसी उल्लाह ने बताया कि अपाचे बाइक की मांग हो रही है लेकिन कंपनी इसे उपलब्ध ही नहीं करा पा रही है।

संबंधित खबरें