Development plan will be approved only after approva - कार्ययोजना की मंजूरी के बाद ही होंगे विकास DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कार्ययोजना की मंजूरी के बाद ही होंगे विकास

ग्राम पंचायतें किसी भी विकास कार्य की कार्ययोजना तैयार कर उसकी मंजूरी के बाद ही विकास कार्य कराएंगी। कार्ययोजना बनाने के लिए खुली बैठक कर उसमें प्रस्ताव रखा जाएगा। इसके बाद ही सम्बंधित विकास कार्य को कार्ययोजना में शामिल किया जाएगा। यह जानकारी मंगलवार को विकास भवन सभागार में डीएम शम्भु कुमार ने मीडियाकर्मियों की कार्यशाला में दी।

डीएम ने बताया कि ग्राम पंचायतों के समग्र विकास के लिए ग्राम पंचायत विकास योजना (जीपीडीपी) के तहत उक्त व्यवस्था की गई है। इसके तहत ग्राम पंचायतें वर्षवार कराए जाने वाले कार्यो की कार्ययोजना तैयार करेंगी। उक्त योजना के तहत राज्य वित्त, 14वें वित्त, मनरेगा, एनआरएलएम, स्वच्छ भारत मिशन, पंचायत भवन निर्माण, अन्त्येष्टि स्थल का विकास व ग्राम पंचायतों की स्वयं की आय को शामिल किया जाएगा। सीडीओ राजकमल यादव ने बताया कि ग्राम पंचायतें किसी भी तरह का धन कार्ययोजना के आधार पर ही खर्च कर सकेंगी। उन्होंने बताया कि शासन से ग्राम पंचायतों को दिए जाने वाले धन में पारदर्शिता लाने के लिए शासन स्तर से यह कवायद की जा रही है। कार्यशाला में डीपीआरओ उमाकांत पांडेय, डीपीओ पवन कुमार यादव समेत सम्बंधित विभाग के अधिकारी मौजूद रहे।

इन विभागों को शामिल कर बनेगी कार्ययोजना

ग्राम पंचायत विकास योजना के तहत राजस्व विभाग, ग्राम्य विकास विभाग, शिक्षा विभाग, समाज कल्याण विभाग, बाल विकास एवं पुष्टाहार विभाग, चिकित्सा विभाग, कृषि विभाग, दिव्यांग जन कल्याण विभाग, दुग्ध विकास विभाग, ग्रामीण अभियंत्रण विभाग, वन विभाग, लघु सिंचाई विभाग, सूक्ष्म लघु एवं मध्यम उद्योग व भूमि विकास विभाग के कार्य शामिल किए जाएंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Development plan will be approved only after approva