Body of soldier carrying home rushed young - सैनिक का शव लेकर घर पहुंचे जवान,फायरिंग अभ्यास के बाद हार्ट अटैक से हुई थी मौत DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सैनिक का शव लेकर घर पहुंचे जवान,फायरिंग अभ्यास के बाद हार्ट अटैक से हुई थी मौत

सैनिक का शव लेकर घर पहुंचे जवान,फायरिंग अभ्यास के बाद हार्ट अटैक से हुई थी मौत

राजस्थान के अलवर में तैनात सेना के जवान का शव मंगलवार को घर आया तो परिजनों में कोहराम मच गया। सेना के जवान विशेष वाहन से शव लेकर घर पहुंचे तो इलाके के लोगों का मजमा लग गया। घर पर अंतिम विदाई देने के बाद परिजन अंतिम संस्कार करने के लिए शव लेकर इलाहाबाद गए।

सदर तहसील के घाटमपुर निवासी राजकुमार सिंह के तीन बेटों में सबसे छोटे विनय कुमार सिंह (34) 2002 में सेना में भर्ती हुए थे। वर्तमान में उनकी तैनाती 14 बटालियन राजपूत राइफल्स में थी। विनय इन दिनों राजस्थान के अलवर में सेना के विशेष फायरिंग कैंप में अभ्यास कर रहे थे। रविवार को फायरिंग के बाद विनय सिंह को हार्टअटैक पड़ गया। सेना के जवान उसे अस्पताल ले गए लेकिन डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। इसकी जानकारी परिजनों को हुई तो पूरे परिवार में कोहराम मच गया। मंगलवार सुबह सवा 10 बजे जेसीओ नायब सूबेदार संतोष सिंह, हवलदार सत्येंद्र सिंह, नायब सूबेदार सतीश सिंह व लांसनायक मनोज सिंह विशेष वाहन से विनय का शव लेकर घर पहुंचे तो इलाके के लोगों की भारी भीड़ पहले से मौजूद थी। शव उतारते ही परिजन दहाड़े मारकर रोने लगे। भीड़ में मौजूद लोगों की आंखें भी नम हो गईं। सेना के जवानों के गार्ड ऑफ ऑनर देने के बाद विनय की पत्नी सहित अन्य परिजनों को शव के पास ले जाया गया। बाद में परिजन शव का अंतिम संस्कार करने इलाहाबाद चले गए।

.....

स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति से पहले छोड़ दी दुनिया

फरवरी माह में आया था घर, परिजनों से की थी चर्चा

कटरा मेदनीगंज। हिन्दुस्तान संवाद

घाटमपुर निवासी राजकुमार सिंह का बेटा विनय सिंह सेना की नौकरी से स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति लेना चाहते थे। फरवरी में घर आने पर उन्होंने परिजनों से इस बिंदु पर चर्चा की तो सभी ने सहमति भी दी। परिजन विनय के स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति के बाद घर आने का इंतजार कर रहे थे, लेकिन मंगलवार को उसका शव आ गया।

राजकुमार सिंह के तीन बेटों में विनय सबसे छोटे थे। विनय के दो बड़े भाई पंकज व नीरज भी घर पर रहते हैं। पिता की तबीयत खराब होने पर विनय फरवरी में 4 दिन के लिए घर आये थे। जाते समय उन्होंने परिजनों को बताया था कि वह जल्द ही स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति लेकर लौट आएंगे। परिजन उसके घर आने का इंतजार कर रहे थे लेकिन मंगलवार को उसका शव आ गया।

....

मायके से आई पत्नी, अनजान रहा बेटा

कटरा मेदनीगंज। नौकरी करने के दौरान विनय सिंह की शादी वर्ष 2012 में खानपुर डांड़ी जंघई निवासी पूनम सिंह के साथ हुई थी। विनय को ढाई साल का बेटा वीवान है। पूनम इस बीच अपने बेटे के साथ मायके में थी। विनय की मौत की खबर पर पूनम के भाई विशाल व विकास मंगलवार को उसे लेकर घर आए। शव आने के बाद मौजूद लोग विनय के ढाई साल के बेटे वीवान को निहार रहे थे। उसके मामा उसे लेकर शव के पास गए। हालांकि पिता की मौत से वह बेखबर था लेकिन सभी को रोते देख वह भी रो रहा था।

खबर हरिकेश मिश्र

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Body of soldier carrying home rushed young