ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेश प्रतापगढ़ - कुंडाबेटे को बचाने के लिए बनी दूसरे की मां

बेटे को बचाने के लिए बनी दूसरे की मां

छह माह पूर्व लापता किशोरी सोमवार को महिला थाने की पुलिस को मिल गई। किशोरी एक युवक से शादी करने का दावा करते हुए उसे अपना पति बताने...

बेटे को बचाने के लिए बनी दूसरे की मां
Newswrapहिन्दुस्तान टीम,प्रतापगढ़ - कुंडाMon, 05 Jul 2021 11:21 PM

छह माह पूर्व लापता किशोरी सोमवार को महिला थाने की पुलिस को मिल गई। किशोरी एक युवक से शादी करने का दावा करते हुए उसे अपना पति बताने लगी। फिर भी नाबालिग होने के कारण उसे बाल कल्याण समिति भेजा गया। वहां युवक पर कार्रवाई के भय से उसकी मां भी पहुंच गई और वह खुद को लड़की की मां बताने लगी। इसे लेकर काफी देर तक गहमागहमी रही। बाद में बाल कल्याण समिति ने नगर कोतवाली पुलिस को मामले में कार्रवाई का निर्देश दिया।

शहर के एक मोहल्ले की 15 वर्षीय लड़की 22 दिसंबर 2020 को गायब हो गई थी। इस मामले में कोई रिपोर्ट नहीं लिखाई गई थी। सोमवार को किशोरी महिला थाने के पुलिसकर्मियों को मिल गई। उसने खुद को शहर के एक मोहल्ले का निवासी बताया। कहा कि वह एक युवक के साथ गई थी और उसके साथ शादी कर ली है। अब वह उसी के साथ रहना चाहती है। इसके बाद भी महिला थाने की पुलिसकर्मियों ने उसके नाबालिग होने के कारण चाइल्डलाइन को जानकारी दी।

चाइल्डलाइन के सदस्य पहुंचे और किशोरी को बाल कल्याण समिति के समक्ष ले गए। बाल कल्याण समिति के सदस्य उसके नाबालिग होने की दशा में आरोपित पर कार्रवाई की बात करने लगे। तभी आरोपित की मां भी बाल कल्याण समिति के कार्यालय पहुंच गई। वह खुद को किशोरी की मां बताने लगी और उसके आरोपित के साथ जाने की बात पर अपनी भी सहमति जताने लगी। बाल कल्याण समिति के सदस्य केएन मिश्र ने महिला से उसका आधार कार्ड दिखाने को कहा तो वह बहानेबाजी करने लगी। इस दौरान पता चला कि वह किशोरी की नहीं बल्कि आरोपित युवक की मां है। बाद में बाल कल्याण समिति के सदस्य ने इस मामले में नगर कोतवाली पुलिस को कार्रवाई का निर्देश दिया। साथ ही किशोरी को भी कोतवाली भेज दिया।

epaper