DA Image
15 अक्तूबर, 2020|8:19|IST

अगली स्टोरी

बरेली-टनकपुर ट्रैक पर इलेक्ट्रिक ट्रेन दौड़ाने का काम शुरू

बरेली-टनकपुर ट्रैक पर इलेक्ट्रिक ट्रेन दौड़ाने का काम शुरू

देवभूमि उत्तराखंड से चंबल की घाटी मप्र तक के सफर को आसान करने की तैयारी है। विद्युतीकरण कार्य के चलते अब यह सफर थकाऊ और उबाऊ नहीं बल्कि टनकपुर से बरेली के बीच आरामदायक बनाने की तैयारी है। इसके लिए विद्युतीकरण का काम बरेली सिटी से टनकपुर के बीच शुरू हो गया है। त्वरित गति से चल रहा इलेक्ट्रिक वायर लगाने का काम दो चरणों में पूरा किया जाएगा।

पहले बरेली सिटी से पीलीभीत और फिर पीलीभीत जंक्शन से उत्तराखंड के टनकपुर तक के बीच काम रफ्तार पकड़ चुका है। सब कुछ ठीक रहा तो संक्रमण काल बीतने के बाद 2021 में यह रेलखंड विद्युत चलित ट्रेनों के लिए जाना पहचाना जाएगा।बरेली से टनकपुर यही वो सेक्शन है कि जिस पर त्रिवेणी एक्सप्रेस शक्तिनगर/सिंगरौली मप्र से उत्तराखंड के टनकपुर तक दौड़ती है। पीलीभीत से जुड़े इस रेलखंड पर सबसे लंबी दूरी की इस ट्रेन का सफर कई बार थकान देने वाला महसूस किया जाता रहा है। पर अब बरेली से टनकपुर के बीच इस सेक्शन में इलेक्ट्रिक ट्रेन चलाने की तैयारी है। बरेली सिटी से टनकपुर के बीच 120 किलोमीटर के रेल सेक्शन में ओएचई वायर और पोल लगाने की तैयारी कर ली गई है। दो चरणों में होने वाले काम के अंतर्गत अब जमीनी काम दिखाई देने लगा है। इलेक्ट्रिक ट्रेन संचालन के लिए पोल और गार्डर लगाए जाने की तैयारी हो गई है।

माता रानी के दरबार में आना जाना होगा आसान

वादियों में माता पूर्णागिरि दरबार तक पहुंचने के लिए अब सफर आसान हो जाएगा। तो इससे रेलवे की इनकम भी बढ़ेगी साथ ही सैलानियां का भी आना जाना होगा। इलेक्ट्रिक ट्रेन संचालन के जरिए बरेली से टनकपुर के बीच रेल संचालन में आधुनिकिकरण दिखेगा।

रेलवे में काम सतत प्रक्रिया के अंतर्गत चलता रहता है। पीलीभीत-टनकपुर के बीच काम सेंट्रल आर्गेनाजेशन फॉर रेलवे इलेक्ट्रिफकेशन लखनऊ कर रही है। काम लगातार चल रहा है ऐसे में कब तक यह काम पूरा होगा। कोरोना संक्रमण काल की वजह से कह पाना फिलहाल जल्दबाजी है। - राजेंद्र सिंह, जनसंपर्क अधिकारी, इज्जतनगर रेल मंडल

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Work on electric train started on Bareilly-Tanakpur track