DA Image
20 अक्तूबर, 2020|2:48|IST

अगली स्टोरी

शिकार के लिए लगाया फंदा, डब्ल्यूटीआई ने पकड़ा

शिकार के लिए लगाया फंदा, डब्ल्यूटीआई ने पकड़ा

पीलीभीत टाइगर रिजर्व के पास के खेतों में शिकारियों की सक्रियता बढ़ गई है तो वनाधिकारियो ने इसको लेकर अपनी गश्त को तेज कर नजरों को चौकन्ना कर लिया है। डब्ल्यूटीआई के साथ गश्त के दौरान टीम ने शिकार के लिए बैठे दो लोगों को दबोच लिया। दोनों के पास से 31 छोटे और चार बड़े फंदे बरामद किए गए है। आरोपियों से पूछताछ के बाद उनको जेल भेजा गया है।

बारिश के बाद ठंड की शुरुआत होते ही जंगल और आसपास के क्षेत्र में शिकारियों की सक्रियता बढ़ जाती है। पूर्व की घटनाओं को लेकर पीटीआर ने अभी से इसपर नजर रखना शुरू कर दिया तो कर्मियों की गश्त भी तेजी के साथ कराई जा रही है। इधर प्रशिक्षण के बाद डब्ल्यूटीआई के साथ कर्मचारी कुड़का और फंदों को भी तलाश रहे हें। गुरुवार को माला रेंज में बाउड्री के पास डब्ल्यूटीआई और रेंज के वन दरोगा मोहम्मद आरिफ गश्त पर थे और संदिग्ध लोगों की तलाश की जा रही थीञ जंगल के पास खेत किनारे टीम को आशंका हुई तो मौके पर पहुंच गए। वहां पर वन्यजीवों के शिकार के लिए फंदा लगा हुआ था। मौके पर ही दो लोगों को पकड़ लिया गया। जानकारी के बाद उनके पास से खरगोश के शिकार के लिए लगाए गए 31 और बड़े जानवर के शिकार के लिए लगाए गए चार फंदा बरामद किए गए। शिकारियों को टीम रेंज कार्यालय लाई। यहां पूछताछ ने दोनों ने खुद को माला कालोनी के रहने वाले मंगल पटारी और दीबो सरकार बताया है। दोनों के खिलाफ केस काटकर जेल भेजा गया है। डीडी नवीन खंडेलवाल ने बताया कि माला रेंज से फंदा सहित शिकारी पकड़े गए हैं। दोनों को जेल भेजा गया है।