To save the existence of ponds SDM has a waist - तालाबों के वजूद को बचाने के लिए एसडीएम ने कसी कमर DA Image
18 नबम्बर, 2019|8:52|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तालाबों के वजूद को बचाने के लिए एसडीएम ने कसी कमर

तालाबों के वजूद को बचाने के लिए एसडीएम ने कसी कमर

गांव से लेकर शहरों तक तालाबों व पोखरों का वजूद खत्म होता जा रहा है। तालाबों के हो रहे अंधाधुंध पटान के कारण जीव जन्तु सुरक्षित नहीं है। वहीं तालाब न होने के कारण वाटर लेविल भी काफी नीचे पहुंच गया है। कोर्ट ने तालाबों के पटान पर रोक लगाए जाने के निर्देश दिए थे। जिसके तहत सरकार ने तालाबों पर किसी भी प्रकार का निर्माण कार्य रोके जाने, अवैध कब्जा हटवाए जाने के आला अधिकारियों को निर्देश दिए।

भले ही सरकार के निर्देशों का अधिकारियों पर ज्यादा असर न हुआ हो, लेकिन एसडीएम ने तालाबों को कब्जा मुक्त कर तालाब बनवाए जाने को कमर कस ली है।बीसलपुर में बड़ी संख्या में तालाब थे, लेकिन भूमाफियाओं ने तालाबों को धोखाधड़ी कर अधिकारियों की सांठ गांठ तालाबों को श्रेणी एक में दर्ज कराकर उन पर प्लाटिंग कर करोड़ों रुपये के वारे न्यारे कर लिए हैं।

गांव से लेकर शहर तक तालाबों का पटान कर अवैध निर्माण करा दिया गया। जिसके कारण अब तालाब दिखाई नहीं दे रहे हैं। तालाब न होने के कारण जहां जलीय जीव जन्तु की मौते हो रही है। वहीं पशु पक्षियों के लिए पानी पीने का साधन भी खत्म हो गया है। सबसे खास बात तो यह है कि तालाब न होने से वाटर लेविल भी नीचे पहुंच गया है और गर्मी की ऋतु में पानी की किल्लत से जूझना पड़ता है।

विधायक रामसरन वर्मा ने विधानसभा सदन में जिले में तालाबों को पाटकर किए जा रहे अवैध निर्मार्णों का मामला उठाते हुए तालाबों से कब्जा मुक्त कराए जाने की मांग की। भले ही विधायक के द्वारा उठाए गए इस मुद्दे का किसी भी अधिकारी पर कोई असर न हुआ हो, लेकिन अपनी तेज तर्रार कार्यशैली के नाम से चर्चा में रहने वाली एसडीएम वंदना त्रिवेदी ने तालाबों को मुक्त कराने का बीड़ा उठाया है। पीलीभीत रोड के किनारे तालाब पर किए गए अवैध कब्जे को जेसीबी से ध्वस्त कराकर तालाब का खुदान शुरू करा दिया गया है। हालांकि एसडीएम को अवैध कब्जा हटाओ अभियान के दौरान काफी विरोध का सामना भी करना पड़ा, लेकिन वह अपने कार्य से पीछे नहीं हटी। देखना यह है कि अन्य तालाबों पर किए गए कब्जों को प्रशासन हटवाने में कामयाब होता है या नहीं।घर की जमा पूंजी लगाकर खरीदे गए प्लाटों पर चली जेसीबीबीसलपुर में नवाबगंज के एक प्रापर्टी डीलर ने सैकड़ों लोगों के नाम तालाब पर प्लाटिंग कर दी। लोगों ने घर की जमा पूंजी खर्च कर जैसे तैसे प्लाट को खरीदा और जब उनके प्लाटों पर जेसीबी चलाई गई तो उनके होश उड़ गए। कई लोग तो सड़क पर आ गए हैं।

कड़ी मेहनत कर उन्होंने प्लाट तो खरीद लिया और लाखों रुपया भी खर्च किया, लेकिन प्रशासन ने तालाब को कब्जा मुक्त कराकर फिर से तालाब बनाने की कार्रवाई शुरू कर दी है। प्रशासन को तालाब की जमीन की बिक्री करने वाले के खिलाफ कार्रवाई करने की जरूरत है।बर्जनबीसलपुर में तालाबों पर अवैध कब्जा किसी कीमत पर नहीं होने दिया जाएगा। जिन लोगों ने तालाबों पर कब्जा किया है। कब्जा मुक्त कराकर दोबारा तालाब बनाने का काम शुरू कर दिया गया है।वंदना त्रिवेदी, एसडीएम बीसलपुर।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:To save the existence of ponds SDM has a waist