DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सुदामा चरित्र की कथा सुन मंत्रमुग्ध हुए भक्त, खेली गई फूलों की होली

सुदामा चरित्र की कथा सुन मंत्रमुग्ध हुए भक्त, खेली गई फूलों की होली

चीनी मिल में स्थित मंदिर पर चल रही श्रीमद भागवत कथा के अंतिम दिन सुदामा चरित्र की कथा का रसपान कराया गया जिसे सुन भक्त मंत्रमुग्ध हो गए। इस दौरान राधा कृष्ण की झांकी पेश की गई जिसपर फूलों की जमकर वर्षा हुई। कथा में अन्य कई झांकियां भी आकर्षण का केंद्र रहीं। कथा में बड़ी संख्या में लोगों की भीड़ उमड़ी।

शुक्रवार को हवन पूजन और भंडारे के साथ धार्मिक कार्यक्रम का समापन हुआ। पूरनपुर चीनीमिल में सात दिवसीय श्रीमद भागवत कथा का शुभारंभ कलश यात्रा के साथ किया गया था। इसमें वृंदावन धाम से आए कथावाचक पंडित मोहनकृष्ण शास्त्री कथा का रसपान करा रहे थे। उन्होंने कार्यक्रम के अंतिम दिन सुदामा चरित्र की कथा सुनाई। इस दौरान सुदामा, राधाकृष्ण सहित कई मनमोहक झांकियां पेश की गई। राधाकृष्ण के स्वरूप में सजे कलाकारों ने जमकर फूलों की होली भी खेली। झांकियों को देख भक्त मंत्रमुग्ध हो गए। भक्तों ने व्यास जी का पूजन कर उपहार भेंट किए। इस मौके पर धार्मिक कार्यक्रम में सहयोग करने वाले लोगों को भी उपहार देकर सम्मानित किया गया। शुक्रवार को हवन पूजन, कन्याभोज और भंडारे के साथ कथा का समापन हुआ। इस अवसर पर पूरनपुर चीनी मिल के जीएम रह चुके आरएल त्रिपाठी, जीएस दीक्षित, अशोक कुमार भट्ट, अनिल शुक्ला, राजीव सिंह, विमल सक्सेना, सुधीर शर्मा, अशोक खंडेलवाल, सतीश मिश्र, जीके त्रिवेदी सहित मिल के अधिकारी और भारी संख्या में कर्मचारी मौजूद रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:The eloquent devotees of the story of Sudama character Holi of flowers played