DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दिल्ली में बेचा गया बालक बीसलपुर क्षेत्र में डेढ़ माह तक बंधक बनाकर रखा

दिल्ली में बेचा गया बालक बीसलपुर क्षेत्र में डेढ़ माह तक बंधक बनाकर रखा

दिल्ली में मुंह बोले बुआ ने दस साल के बच्चे की बिक्री कर दी और उसे एक सिख फार्मर अपने घर ले गया। जहां बच्चे से झाड़ू पोछा कराया गया। डेढ़ माह तक बच्चा सिख फार्मर के घर पर बंधक रहा। किसी तरह से छूटकर आए बालक को पुलिस ने उसके परिजनों को सौंप दिया है। बेटे को देखकर बेवा मां की आंखे भर आई और उसने बेटे को कलेजे से लगा लिया।दिल्ली के शहीद नगर नूरजहां गली का रहने वाले जावेद की काफी पहले मौत हो चुकी है।

उसके पांच बेटे हैं। जो अपनी मां जीनत के साथ रहते हैं। डेढ़ माह पूर्व बिलसंडा थाना क्षेत्र के एक गांव सिख फार्मर दिल्ली में अपने रिश्तेदार यहां के गया था। तभी इरशाद (10) को उसकी मंुह बोली बुआ ने सरदार के हाथ उसे बेच दिया। सरदार उसे अपने फार्म पर ले गया जहां इरशाद से झाड़ू पोछा का काम कराता रहा। डेढ़ माह तक बालक को बंधक बनाकर रखा। उसे घर से बाहर नहीं निकलने दिया। बीते शनिवार को सरदार का परिवार एक शादी समारोह में गया हुआ था। घर पर दो लोग थे जो दोपहर में सोने लगे।

तभी इरशाद मौका पाकर पैदल घर से निकल आया। उसने रास्ते में गन्ना लेकर जा रही ट्रैक्टर ट्राली को चला रहे किसान से बैठाने के लिए कहा दूर से चलकर आए बालक के पैर सूजे देखकर किसान का दिल पिघल गया। जब उसने बालक से जानकारी की तो वह दंग रह गया। किसान चीनीमिल पुलिस चौकी पर बालक को लेकर गया। पुलिस ने तभी लकड़ी व्यापारी अशरफ बेग व उसके साथी भी मौके पर पहुंच गए। अशरफ बेग के साथी का साला यासीन दिल्ली में रहता है। उसने व्हाटसएप पर बालक का फोटो अपने साले को भेजा। साले ने काफी मेहनत की और बालक के बताए हुए मोहल्ले में पहुंचा तो उसकी मां का पता चल गया। उसने जब फोटो दिखाया तो मां ने बेटे को पहचान लिया। मां अपने बच्चों के साथ दौड़ती हुई बीसलपुर आ गई। पुलिस ने बालक को बेचने वाली महिला व घर में बंधक बनाकर काम करने वाले सिख फार्मर के खिलाफ कार्रवाई शुरू कर दी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:The boy sold in Delhi held a stay in Bisalpur area for one and a half months