DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मंदिर विवाद में समझौता, प्लाट की जमीन पर बनेगा मंदिर

मंदिर विवाद में समझौता, प्लाट की जमीन पर बनेगा मंदिर

मंदिर प्रकरण के मामले में चल रहे विवाद का आखिरकार समाधान निकाल लिया गया। प्लाट स्वामी ने अपने प्लाट का कुछ हिस्सा मंदिर के नाम पर देने की बात कही है। शनिवार को जमीन की पैमाइश कराई जाएगी, जिसके बाद मंदिर का निर्माण शुरू कराया जाएगा। मंदिर विवादित जमीन पर तो नहीं बन पाएगा, लेकिन उसी स्थान के पास एक प्लाट में बनेगा। गुरुवार को डीएम की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में मंदिर विवाद का हल निकाला और सभी ने सहमति जताई। इधर इस मामले का हल निकलने के बाद प्रशासन व पुलिस ने चैन की सांस ली। सुनगढ़ी थाना क्षेत्र में पूरनपुर हाइवे पर 23 मई को रोड चौड़ीकरण के बहाने एक पुराने मंदिर को पुलिस और प्रशासन ने मिलकर गिरा दिया था। इसके बाद हिन्दूवादी संगठनों सहित ग्रामीण आक्रोशित हो गए। ग्रामीणों सहित अन्य लोगों ने हाइवे जाम कर पुलिस पर पत्थरबाजी शुरू कर दी। इसी आक्रोश में ग्रामीणों ने पुलिस की तीन गाड़ियों को भी आग के हवाले कर दिया था। दो दिन की कड़ी मशक्कत के बाद पुलिस ने हालात पर काबू पाया। इस मामले में पुलिस ने कई लोगों पर कार्रवाई कर जेल भेज दिया, जिसके बाद मामला शांत हो गया था। इसी बीच हिन्दूवादी संगठन आगे आए और इस मामले में डीएम शीतल वर्मा व एसपी देवरंजन वर्मा को ज्ञापन सौंपा। बताया कि 31 मई तक अगर उसी जगह मंदिर नहीं बना तो एक जून को उसी स्थान पर अनशन पर बैठेंगे। हिन्दूवादी संगठनों का ज्ञापन मिलते ही पुलिस और प्रशासन में खलबली मच गई। मामला शांत होने के बाद फिर से उखड़ा देख अधिकारियों में मंथन शुरू हो गया और इसकी सूचना आईजी तक को दी गई। इधर हिन्दू संगठन अनशन की तैयारी में थे तो पुलिस प्रशासन उन्हें समझाने में जुटे रहे। पुलिस प्रशासन ने कई बार हिन्दू संगठन के कार्यकर्ताओं से मिलकर समझाने लगे रहे लेकिन बात नहीं बनी। इस मंदिर प्रकरण के मामले को लेकर गुरुवार को कलक्ट्रेट सभागार में डीएम की अध्यक्षता में बैठक हुई। इसमें एसपी देवरंजन वर्मा, हिन्दू संगठन सहित तमाम लोग मौजूद रहे। मंदिर के मामले में विवाद न हो, जिस पर प्लाट स्वामी ने अपनी जमीन का कुछ हिस्सा मंदिर के नाम पर दान करने की बात कही। यह सुझाव सभी को पसंद आया और सभी ने सहमति जताई। शांतिपूर्वक हुई बैठक के बाद सभी ने चैन की सांस ली। घटनास्थल बना छावनी मंदिर प्रकरण के मामले में एक तरफ अधिकारियों की बैठक चल रही थी तो दूसरी तहर घटनास्थल छावनी में तब्दील था। वहीं कलेक्ट्रट परिषर में भी भारी पुलिसफोर्स तैनात रही। सुरक्षा को लेकर कई टीम बनाई गई थी विवाद को काबू किया जा सके। बैठक खत्म होते ही डीएम शीतल वर्मा, एसपी देवरंजन वर्मा, एएसपी रोहित मिश्रा सहित अन्य अधिकारी घटनास्थल पर पहुंचकर मौका मुआवना किया। ग्रामीणों को दी गई समझौते की जानकारी बैठक खत्म होते ही अधिकतर अधिकारी आसपास गांव में कुछ गांव पहुंचे। जिन्होंने ग्रामीणों को मंदिर प्रकरण के मामले में हुए समझौते की जानकारी दी गई। सीओ निशांक शर्मा व एसडीएम पूर्णिमा सिंह बैठक खत्म होने के बाद मीरापुर गांव पहुंचकर ग्रामीणों के साथ बैठक की। उन्होंने ग्रामीणों को मंदिर प्रकरण के हुए फैसले की जानकारी दी। इस फैसले पर ग्रामीणों ने भी सहमति जताई।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Temple dispute, agreement will be made on plot land