DA Image
1 जुलाई, 2020|6:36|IST

अगली स्टोरी

जानिए किस कारण रोडवेज की 16 अनुबंधित और डिपो की 36 बसें करनी पड़ीं सरेंडर 

surrender 16 contracted roadways and 36 buses of depot in pilibhit

उत्तर प्रदेश परिवहन निगम से अनुबंधित और रोडवेज बसों का संचालन बंद कर दिया गया है। इन बसों को एक महीने के लिए सरेंडर किया गया है। इस संबंध में परिवहन निगम मुख्यालय को सूचना भेज दी गई है। पीलीभीत डिपो में 112 बसों की संख्या है, जो दिल्ली, लखनऊ, फर्रूखाबाद, मथुरा, आगरा, लखीमपुर आदि रूटों पर संचालित हो रही हैं। कोरोना संक्रमण के अनलॉक-वन में रोडवेज बसों का संचालन शुरू कर दिया गया।

रोडवेज बसों को काफी कम सवारियां मिली। परिवहन निगम से अनुबंधित कराकर रोडवेज बसें चलाई जा रही हैं। इन अनुबंधित बसों का संचालन बंद कर दिया गया है। अब लखनऊ और दिल्ली रूट पर एसी बस की सुविधा का लाभ यात्री नहीं उठा पाएंगे। ऐसे में यात्रियों को सफर करने में काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ेगा। रोडवेज डिपो ने भी 36 बसों को एक माह के लिए सरेंडर कर दिया है।

सहायक क्षेत्रीय प्रबंधक वीके गंगवार ने बताया कि कोरोना के कारण सवारियां काफी कम मिल रही थी। इसलिए 16 अनुबंधित बसों को एक माह के लिए सरेंडर कर दिया गया, जिसमें 11 एसी व पांच साधारण बसें शामिल हैं। इसके अलावा रोडवेज डिपो की बसों को एक माह के लिए सरेंडर किया गया है। परिवहन निगम मुख्यालय को बसों के नंबर लिखकर भेज दिए गए हैं। इस दौरान बसों का संचालन नहीं होगा। अभी बसों में सवारियां नहीं मिल रही है। इस वजह से यह निर्णय लिया गया। 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Surrender 16 contracted roadways and 36 buses of depot in Pilibhit